दैनिक भास्कर हिंदी: क्रिकेट पर लगा रहे थे सट्‌टा, बुकी व दो पंटर गिरफ्तार

March 3rd, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। गिट्टीखदान क्षेत्र के सुरेंद्रगढ़ और मानवता नगर में छापेमारी कर पुलिस ने एक क्रिकेट बुकी और 2 पंटर को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि पाकिस्तान में चल रहे क्रिकेट मैच को लेकर ऑनलाइन सट्टा लगाया जा रहा था। इनसे 4 लाख 86 हजार रुपए की नकदी, मोबाइल, कार सहित 11 लाख रुपए का माल जब्त किया गया है।  इस साल का पहला ऐसा मामला है, जिसमें इतनी बड़ी रकम बरामद की गई है। 

कागज हाथ लगे हैं
विशेष दस्ते के एपीआई दिलीप चंदन के अनुसार, वह वॉट्सएप पर  क्रिकेट सट्टे की लागवाली- खायवाली कर रहा था। पुलिस के हाथ उसके मटका सट्टे की लागवाली के कागज हाथ लगे हैं। वह क्रिकेट सट्टे की भी खायवाली कर रहा था। पुलिस उपायुक्त विनीता  साहू के मार्गदर्शन में एपीआई दिलीप चंदन, हवलदार आदित्य यादव, सिपाही अमित कुमार सिंह, पराग फेगड़े, राजेश सोनवने, कल्याणी पराते और अलीम खान ने कार्रवाई को अंजाम दिया।

पुलिस को मिली थी जानकारी
पुलिस उपायुक्त विनीता साहू ने बताया कि बल्लारे नामक सटोरिया के अड्डे पर क्रिकेट मैच की खायवाली और लागवाली शुरू होने की खबर उनके विशेष दस्ते को लगी। उनके आदेश पर विशेष दस्ते ने बल्लारे के यहां छापा मारा, जहां वह  वर्ली और क्रिकेट सट्टे की खायवाली करते मिला। राजेश प्रेमलाल बल्लारे टीवी टावर के समीप मानवता नगर परिसर में अपना वर्ली सट्टे का अड्डा चला रहा था। पुलिस को परसोड़कर बंधु वर्ली सट्टे की खायवाली करते रंगेहाथ मिले। पुलिस ने उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ की तो बल्लारे के लिए काम करने की जानकारी मिली। बल्लारे के घर पर पुलिस ने छापा मारा, तो वह ऑनलाइन क्रिकेट सट्टे की खायवाली करते मिला। 

खुद का सट्टा अड्डा चलाता है
मंगलवार को जिमखाना, सिविल लाइंस में उपायुक्त विनीता साहू ने पत्रकारों को बताया कि ऑनलाइन मैच देखते हुए वाॅट्सएप पर क्रिकेट सट्टे की खायवाली करनेवाले क्रिकेट बुकी और सुरेंद्रगढ़ के मानव सेवा नगर निवासी राजेश बल्लारे और उसके दो पंटरों को गिरफ्तार किया गया है। पंटर के रूप में रूपेश दामोधर परसोड़कर (32) और उसके भाई आशीष दामोधर परसोड़कर (35) गिट्टीखदान निवासी की पहचान हुई है। उपायुक्त ने बताया कि राजेश बल्लारे पर छेड़छाड़ सहित 17 मामले दर्ज हैं। इसमें 16 मामले क्रिकेट सट्टे व मटका अड्डे से जुड़े हैं। राजेश बल्लारे खुद का सट्टा अड्डा चलाता है। वह इस कार्य में रूपेश और आशीष को पंटर के तौर पर लगा रखा था। ये दोनों मटका अड्डा भी चलाते हैं। तीनों के खिलाफ गिट्टीखदान थाने में मामला दर्ज किया गया है।