सरकारी योजना का हाल: घोटालेबाजों ने डकारी रकम, लाभार्थी कर रहे इंतजार

January 13th, 2022

डिजिटल डेस्क, अमरावती । स्वच्छ महाराष्ट्र अंतर्गत अमरावती मनपा क्षेत्र में चलाई जानेवाली निजी शौचालय निर्माण योजना पर नए शौचालय बनानेवाले नागरिकों को 17 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि दी जाती थी। वर्ष 2020 से पहले मनपा प्रशासन इस योजना की सफलता को लेकर अपनी तारीफों के पुल बांधा करता था। किंतु मौजूदा स्थिति यह है कि घोटालेबाजों ने मनपा की तिजोरी को खाली कर दिया है और लाभार्थी अनुदान की राशि मिलने का इंतजार कर रहे हैं। 

अमरावती मनपा में जिस वक्त फर्जी बिलों के नाम पर निधि के भुगतान की बात सामने आई थी। उसी समय 478 लाभार्थी नियमों के मुताबिक अपने खातों में राशि जमा होने की प्रतीक्षा कर रहे थे। किंतु उसी वक्त इस योजना में आर्थिक फर्जीवाड़ा सामने आ जाने के बाद सभी लाभार्थियों को दी जानेवाली निधि का आवंटन रोक दिया गया। यह मामला सामने आए हुए 20 माह बीत चुके हंै। मनपा की तिजोरी की लूट मचानेवाले तो बेखौफ दिखाई दे रहे हंै। लेकिन कार्यालयीन जांच पूरी होने के बावजूद लाभार्थियों का अनुदान अब तक मंजूर नहीं हो पाया है। भ्रष्टाचारियों की ओर से इस पूरे मामले में 2 करोड़ 49 लाख की निधि मनपा खाते से उड़ाई गई थी। जिसका खामियाजा सरकारी अनुदान विभाग से शौचालय बननेवालों को भुगतना पड़ रहा है। अमरावती शहर को खुले में शौच से मुक्त करने के लिए यह योजना चलाई गई थी। किंतु इस योजना का मकसद स्थानीय स्तर पर पूरी तरह से विफल साबित हुआ है।