दैनिक भास्कर हिंदी: आज नहीं चलेंगी स्कूल बसें, ईंधन को जीएसटी के दायरे में लाने की मांग

July 20th, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। ईंधन की दरें जीएसटी के दायरे में लाने की मांग करते हुए स्कूल बस ऑनर्स एसोसिएशन ने शुक्रवार को बसें बंद रखने का फैसला किया है। स्कूल बसों के साथ-साथ टैंपो, निजी बस और ट्रक मालिक भी इस हड़ताल में शामिल होंगे। पेट्रोल-डीजल की रोजाना बदलने वाली कीमतों से भी बस मालिक परेशान हैं।

महाराष्ट्र स्कूल बस ऑनर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष अनिल गर्ग ने कहा है कि ईंधन की कीमतें लगातार बढ़ रहीं हैं। इसके दाम अब रोजाना तय हो रहे हैं। इससे हमारी परेशानी बढ़ गई है। ईधन के दाम छह महीने के लिए निश्चित किए जाने चाहिए। उन्होंने कहा, 'सरकार देश भर में एक टैक्स के नाम पर जीएसटी लाई है तो फिर पेट्रोलियम उत्पादों को इससे अलग रखकर मनमाना टैक्स क्यों वसूला जा रहा है।'

गर्ग ने कहा, 'मुंबई ही नहीं देशभर में स्कूल बसें शुक्रवार को बंद रहेंगी। लग्जरी बस, ट्रक, टैंपो, निजी कैब, टूरिस्ट कार भी हड़ताल में शामिल होंगी। ऑल इंडिया ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने भी हड़ताल को समर्थन दिया है।'

बता दें कि बस मालिकों ने स्कूल बस चेसिस का एक्साइज ड्यूटी माफ करने, राज्य के सभी टोल नाकों पर स्कूल बस का टोल माफ करने, बीमें की किश्त कम करने, आरटीओ द्वारा की जाने वाली वार्षिक जांच बंद कर स्कूल बस सेफ्टी कमेटी से जांच कराए जाने, स्कूल के पास पार्किंग की जगह उपलब्ध कराने और रास्ते गड्ढा मुक्त करने की भी मांग की है।