दैनिक भास्कर हिंदी: सिकंदराबाद-दानापुर एक्सप्रेस में लूट के आरोपियों पर 10 हजार का ईनाम घोषित

February 3rd, 2019

डिजिटल डेस्क,जबलपुर। सिकंदराबाद-दानापुर एक्सप्रेस में बागरातवा-सोनतलाई के बीच हथियारबंद लुटेरे बैतूल के पारधी गिरोह के सदस्य थे। इस बारे में जीआरपी और आपरपीएफ की टीम को कुछ सबूत हाथ लगे हैं। कहा जा रहा है कि सोनतलाई रेल लाइन पर एक लाल रंग की जैकेट और चार कंबल मिले हैं, जो संभवत: डकैतों के हो सकते हैं। शनिवार को टीम ने पहले घटना स्थल के आसपास का बारीकी से मुआयना किया और उसके बाद इटारसी और पिपरिया में कैम्प लगाकर क्षेत्रीय लोगों से ट्रेन में हुई लूट के बारे में बारीक जानकारियां हासिल की हैं। सिकंदराबाद-दानापुर एक्सप्रेस के लुटेरों पर 10 हजार रुपए का ईनाम घोषित कर दिया गया है।
लंबे समय की जा रही थी रेकी-
जीआरपी की टीम लगातार दो दिनों ने बागरातवा-सोनतलाई इलाके में लोगों से लूट के बारे में जानकारियां हासिल कर रही है। जिसमें यह बात सामने आई है कि सोनतलाई इलाके में पारधी गिरोह के लोग सक्रिय हैं, जो लंबे समय से इस ट्रैक पर आने-जाने वाली ट्रेनों की रेकी कर रहे थे। इनमें कुछ महिलाओं और बच्चे होने के बारे में भी महत्वपूर्ण जानकारियां जीआरपी को मिली है। जो पहले ट्रेनों में चढ़कर यात्रियों की स्थिति का जायजा लेते हैं और उसके बाद गिरोह को आने की सूचना देते हैैं। घटना स्थल का मुआयना करने के बाद यह अंदाजा लगाया जा रहा है कि रात के समय डकैत कंबल ओढ़कर ट्रेन के आने का इंतजार कर रहे होंगे और उसके बाद उन्होंने डकैती को अंजाम दिया होगा।
लाखों रुपए के जेवर लूट लिए-
डकैतों ने गुरुवार और शुक्रवार की दरमियानी रात एसी कोच में सवार यात्री भास्कर शर्मा पिता सुभाष शर्मा को धमकाते हुए 1 सोने की चेन, 2 सोने की अँगूठियाँ, 1 डायमंड रिंग, मोबाइल आदि सामान छीन लिए थे। उसके बाद डकैतों ने जुगल किशोर खंडेलवाल के पास से सोने के जेवरात, 25 हजार रुपए नकद लूटे, एक अन्य यात्री चैनसुख लोया से 2 सोने की अँगूठियाँ, 25 हजार रुपए नकद क्रेडिट कार्ड लूटे। फिर डकैतों ने पास ही बैठीं महिला यात्रियों को पिस्टल दिखाकर उनके पहने हुए गहने उतरवा लिए और लेडीज पर्स छीनने के बाद ट्रेन से उतरकर फरार हो गए थे।
इनका कहना है-
लुटेरे जल्द पकड़े जाएंगेसिकंदराबाद-दानापुर एक्सप्रेस में यात्रियों के साथ लूटपाट करने वाले लुटेरों के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियां व सबूत मिले हैं।  ऐसी उम्मीद है कि लुटेरे जल्द पकड़े जाएंगे।
-सुनील जैन, एसआरपी