दैनिक भास्कर हिंदी: महानाट्य : नागपुरवासी देख सकेंगे 80 फीट लंबा व 55 फीट ऊंचा खिसकने वाला किला, 250 कलाकार देंगे प्रस्तुति

November 18th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  शहर में भव्य महानाट्य होने जा रहा है । शिवपुत्र संभाजी के लिए 130 फीट का भव्य रंगमंच तैयार किया जा रहा है।  80 फीट लंबा व 55 फीट ऊंचा खिसकने तथा घूमने वाला किला इसमें  दिखाया जाएगा।  इस किले में हाथी, घोड़े, ऊंट, बैल भी होंगे। इस दौरान 18 फीट के जहाज का भी निर्माण किया जाएगा। ऐतिहासिक दृश्य और कलाकारों का जीवंत अभिनय दर्शकों के दिल में अमिट छाप छोड़ेगा। यह जानकारी माध्यम लोकसेवा प्रतिष्ठान के अध्यक्ष व पूर्व विधायक मोहन मते ने प्रेस कांफ्रेंस में दी।

उन्होंने बताया कि माध्यम लोकसेवा प्रतिष्ठान द्वारा 22 से 28 दिसंबर तक शाम 5.30 से 9.30 बजे तक रेशमबाग मैदान में ऐतिहासिक महानाट्य शिवपुत्र संभाजी का आयोजन किया जाएगा। इसमेें मराठा व मुगलों की तलवारबाजी, तोप की गड़गड़ाहट व अग्निबाण की वर्षा के साथ राज्याभिषेक उत्सव का भव्य दृश्य होगा। महानाट्य में 250 कलाकार अलग-अलग भूमिका में नजर आएंगे। पत्रकार वार्ता में पूर्व महापौर प्रवीण दटके, संजय खुले, बिज्जू पांडे, राजेश छाबरानी, शशि शुक्ला, पंकज ठाकरे, विश्वास महादुरे, बंटी कुकडे, हितेश जोशी, संजय भोसले, परीक्षित मोहिते, पराग खानविलकर, प्रकाश भोयर, चंद्रशेखर तुमसरे, रमेश भंडारी आदि उपस्थित थे।

-ऐतिहासिक महानाट्य ‘शिवपुत्र संभाजी’ का मंचन 22 से 28 दिसंबर तक
-80 फीट लंबे और 55 फीट ऊंचे किले की बनेगी प्रतिकृति
-डॉ. अमोल कोल्हे होंगे शंभू छत्रपति की भूमिका में
-नाटक में प्रवेश नि:शुल्क 

महाराजा शंभू छत्रपति प्रोडक्शन पुणे द्वारा निर्मित
नाटक में कलाकार स्व राज्य रक्षक संभाजी फेम डॉ. अमोल कोल्हे शंभू छत्रपति की भूमिका में हैं। नाटक का निर्माण, लेखन, दिग्दर्शन महाराजा शंभू छत्रपति प्रोडक्शन पुणे के शिवशंभू शाहीद,महेन्द्र महाडिक ने की है। औरंगजेब की भूमिका में रवि पटवर्धन हैं। संवाद लेखन एडवोकेट महेन्द्र महाडिक, संगीतकार चिन्मय सत्यजीत, गीतकार एड. महेन्द्र महाडिक, दत्तात्रेय सोनवणे, रोहित पंडित ने किया है। 

समाजसेवा में भी आगे
श्री मते ने बताया कि माध्यम लोकसेवा प्रतिष्ठान की स्थापना दो वर्ष पूर्व की गई थी, जिसमें संस्था द्वारा समाज सेवा तथा आम जनता के हित के लिए कार्य किए जा रहे हैं। स्वच्छ, सुंदर और निरोगी नागपुर में मच्छरों के लिए फॉगिंग कैंपेन का भी आयोजन किया गया है। इसके साथ ही गड़चिरोली में महिलाओं को सेनिटरी नैपकिन का वितरण, सांस्कृतिक, सामाजिक, शैक्षणिक, स्वास्थ्य शिविर भी लिए जाते हैं। संस्था द्वारा रक्तदान, विद्यार्थी दत्तक योजना, वृद्धाश्रम तथा अनाथाश्रम की स्थापना करने का निर्णय लिया गया है।