दैनिक भास्कर हिंदी: सिद्धिविनायक मंदिर ट्रस्ट अध्यक्ष को मिला राज्य मंत्री का दर्जा, मिलेगा 7500 रुपए मासिक 

June 19th, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महानगर के सुप्रसिद्ध श्री सिद्धिविनायक गणपति मंदिर न्यास के अध्यक्ष व शिवसेना के नेता आदेश बांदेकर को फडणवीस सरकार ने राज्यमंत्री का दर्जा दिया है। इस संबंध में सरकार ने सोमवार को शासनादेश जारी किया। शासनादेश के अनुसार कि बांदेकर को हर महीने 7,500 रुपये मानदेय मिलेगा। मंदिर ट्रस्ट की बुलाई गई प्रत्येक बैठक में उपस्थित रहने पर 500 रुपये भत्ते के अलावा 3,000 रुपये टेलीफोन खर्च के लिए भी दिए जाएगा। मंदिर के ट्रस्ट कार्यालय में काम करने के लिए अध्यक्ष को एक निजी सहायक, एक लिपिक और एक परिचारक उपलब्ध कराया जाएगा। यह सभी खर्च श्री सिद्धिविनायक गणपति मंदिर न्यास वहन करेगा।

अभिनेता से नेता बने बांदेकर के कैरियर की शुरुआत दूरदर्शन के शो ‘ताक धिना धिन' से हुई थी। इसके बाद उन्हें जी मराठी के शो ‘होम मिनिस्टर'' से खास पहचान मिली। आदेश बांदेकर साल 2009 में शिवसेना में शामिल हो गए थे। शिवसेना ने बांदेकर को दादर से मनसे के नितिन सरदेसाई के खिलाफ चुनाव मैदान में उतारा था, लेकिन वे चुनाव हार गए। शिवसेना ने बांदेकर को पार्टी का सचिव पद दिया है। साल 2017 में वे श्री सिद्धिविनायक गणपति मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष नियुक्त किए गए थे। अब उन्हें राज्य मंत्री पद का दर्जा मिला है।

 

 

गौरतलब है कि सरकारी दस्तावेजों के अनुसार श्री सिद्धिविनायक गणपति मंदिर का निर्माण नवंबर 1801 में हुआ था। महाराष्ट्र के कानून एवं न्याय विभाग की मंदिरों को मिलने वाले चंदे की रिपोर्ट के मुताबिक सिद्धिविनायक मंदिर को रोजाना 25 लाख रुपये से ज्यादा दान के रूप में मिलते हैं।