मध्य प्रदेश गौशाला कांड: भोपाल के बाद रीवा में मिले गायों के कंकाल, मचा हड़कंप

February 16th, 2022

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्यप्रदेश के गौशाला में गायों के मौत का मामला सामने आने से हड़कंप मच गया है। भोपाल के बाद रीवा जिले की चोरगडी गौशाला में दर्जनों गायों की हड्डियां और कंकाल मिले हैं। बता दें कि गौशाला रायपुर कचुर्लियान ब्लॉक में है। इसका संचालन पंचायत करती है। खबरों के मुताबिक गौशाला में दर्जनों गायों की हड्डियां और कंकाल मिले हैं।

गौशाला की देखभाल करने वालों की लापरवाही सामने आयी है, लोगों का कहना है कि ठंड से दम तोड़ती गायों को गौशाला के पीछे बनें तालाब में फेंकते रहे हैं। हालांकि जब मृत गायों की वजह से बदबू फैली तब उनके शव को गड्ढे खोदकार दफना दिए। वहीं कुछ गायों की हड्डियां भी बेच दी गईं हैं। ऐसी ही करीब पचास गायों के कंकाल यहां मिले हैं। दो हफ्ते पहले ही भोपाल में गौशाला में 80 से ज्यादा गायों के कंकाल मिले थे। जिसके बाद बड़ा हंगामा हुआ था। 

गायों के मरने पर लगा गंभीर आरोप

आपको बता दें कि सामाजिक कार्यकर्ता शिवानंद द्विवेदी ने कहा कि कुछ दिन पहले गांव वालों की सूचना पर वह स्वंय चोरगडी गौशाला पर निरीक्षण करने पहुंचे थे। वहां ठंड की वजह से अब तक 75 से ज्यादा गायें मर चुकी हैं। गौशाला की देखभाल करने वाले लोग गायों के शव को तालाब में फेंकते रहे हैं। गांव में जब बदबू फैली तो गांव वालों के साथ वह खुद मौके पर पहुंचकर हालात का जायजा लिया। उन्होंने कहा उस वक्त तालाब में करीब 25 से 30 गायों के शव पड़े थे। साथ ही आप पास 20 से ज्यादा गायों की हड्डियां भी पड़ी थी।

मामला तूल पकड़ता देख आनन-फानन में जिम्मेदारों ने शव गड्ढे में दफना दिए। इसी बीच कई गोवंशों की हड्डियों को बेचा जा चुका था। वहीं रायपुर कचुर्लियान जनपद पंचायत के सीईओ प्रतीप दुबे ने बताया कि मामला संज्ञान में आने के बाद दो दिन पहले चोरगडी गौशाला का निरीक्षण करने गया था। पता चला कि मरने वाली ज्यादातर गायें गांव की हैं। गांव वाले ही गोवंश के मरने पर तालाब में लाकर फेंक देते थे, जिससे आसपास बदबू फैलने लगी। वर्तमान में गौशाला की स्थिति अच्छी है। गायों को चारा बराबर मिल रहा है।