वन विभाग ने दबोचा: बाघ की मूंछ व दांत के साथ पकड़ाए तस्कर

October 12th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। नागपुर वन विभाग ने कार्रवाई कर नागपुर-वर्धा हाईवे पर 7 तस्करों को धरदबोचा। तस्कर बाघ की मूंछ व दांत बेचने के लिए नागपुर आए थे। आरोपियों की 14 अक्टूबर तक वन हिरासत मिली है। आरोपियों से अवयव तस्करी के और भी महत्वपूर्ण मामले उजागर हो सकते हैं। कार्रवाई मुख्य वन संरक्षक (प्रादेशिक) पी. कल्याणकुमार व उपवनसंरक्षक डॉ. भारत सिंह हाड़ा के मार्गदर्शन और पी.जी. कोडापे के नेतृत्व में एन.जी. चांदेवार, संदीप गिरि, एल.वी. ठोकड़ आदि ने की।

यह हैं आरोपी
पकड़े गए आरोपियों का नाम प्रकाश महादेव कोडी, प्रकाश रामदास राऊत, संदीप महादेव रंगारी, अंकुश बाबाराव नाईकवाड़े, विनोद शामराव मुन, विवेक सुरेशराव मिसाड़, योगेश माणिक मिलमिले, सभी यवतमाल निवासी शामिल हैं।

नाके पर ट्रैप लगाकर पकड़ा
जानकारी के अनुसार रविवार को वन विभाग ने गुप्त सूचना पर नागपुर-वर्धा हाईवे स्थित हलदगांव टोल नाका पर ट्रैप लगाया। आरोपियों की गाड़ी नाके पर पहुंचते ही रोककर जांच-पड़ताल की गई। इसमें बाघ की मूंछ व दांत पाए गए। वन विभाग ने तुरंत 7 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

वयस्क बाघ का किया था शिकार
पूछताछ में सामने आया है कि, वर्ष 2018 में यवतमाल के उमरडा में एक वयस्क बाघ का शिकार किया गया था और पैसे कमाने के उद्देश्य से बाघ के  अवयव का प्रयास कर रहे थे। इसी सिलसिले में आरोपी रविवार को नागपुर आए थे। आरोपियों ने उपयोग में लाया वाहन (एम.एच.-44-बी.-5152) भी विभाग ने जब्त किया है। आरोपियों पर वन्यजीव संरक्षण के तहत मामले दर्ज किए गए हैं। पूछताछ में आरोपियों से और भी तस्करी के खुलासे होने की संभावना है।

खबरें और भी हैं...