स्नेहबंधन: सांप के डसने से गंभीर महिला को जीवनदान, छुट्‌टी के वक्त हुई भावविभोर

November 1st, 2021

डिजिटल डेस्क,नागपुर। ‘भैया आप लोगों ने मुझे नया जीवन दिया है। मेरे बच्चों को उनकी मां मिली है। मैं आपका कर्ज नहीं उतार सकती। आप सब मेरे भाई हो। मैं आपके लिए भाईदूज पर मिठाई लेकर आऊंगी’। एक महिला ने खुशी के आंसू बहाते हुए मेडिकल में डॉक्टरों के सामने अपनी भावना व्यक्त की। इस महिला को तीन बार जहरीले सांप ने काट लिया था। पूरे शरीर में जहर फैलने के कारण उसके बचने की उम्मीद खत्म हो चुकी थी, लेकिन डॉक्टरों ने उपचार कर उसे नया जीवन दिया।

पास में दो बच्चे भी सो रहे थे  : सरकारी अस्पतालों को लेकर लोगों की अलग-अलग राय होती है। कुछ को कड़वे अनुभव आते हैं, तो कुछ मीठे अनुभव से गुजरते हैं। ऐसे ही मीठे अनुभव से एक महिला गुजरी है। सरकारी अस्पताल के डॉक्टरों ने उसे नया जीवन दिया, तो इस महिला ने डॉक्टरों को भाई मान लिया। घटना 15 दिन पहले की है। रामटेक निवासी शामकला जगदीश माहुले (37) अपने घर में पलंग पर सोई थी। उसके साथ दो छोटे बच्चे भी सो रहे थे। उसी दौरान शामकला को उसके हाथ पर दो बार कुछ काटने का एहसास हुआ। उसने ध्यान नहीं दिया और सो गई। जब तीसरी बार ऐसा हुआ, तो शामकला उठ कर देखी, तो उसके पैरों तले जमीन खिसक गई। वहां उसे 5 फीट का जहरीला सांप दिखाई दिया।

बचने की उम्मीद नहीं थी : शामकला ने शोर मचाकर सबको जानकारी दी। देखते ही देखते उसका दम घुंटने लगा और सांस लेने में दिक्कत होने लगी। परिजन उसे लेकर मेडिकल में पहुंचे। जांच में पता चला कि उसके पूरे शरीर में जहर फैल गया है। उसके बचने की उम्मीद न के बराबर थी, लेकिन डॉक्टरों ने हिम्मत नहीं हारी और 15 दिन तक वेंटिलेटर पर रख कर उसे नया जीवन देकर 30 अक्टूबर को डिस्चार्ज किया। घर लौटते समय महिला की आंखों से खुशी के आंसू बह रहे थे।