दैनिक भास्कर हिंदी: शीघ्र मिलेगी कोरोना वैक्सीन के इस्तेमाल की इजाजत

December 28th, 2020

 डिजिटल डेस्क, मुंबई। पुणे स्थित सिरम इंस्टीट्यूट (एसआईआई) ने सोमवार को न्यूमोनिया की पहली स्वदेशी वैक्सीन लांच की। इस वैक्सीन को बिल एंड मीलिंडा गेट्स फाउंडेशन, पाथ व एसआईआई ने संयुक्त रुप से मिलकर बनाया है। वैक्सीन को केंद्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्री हर्षवर्धन की उपस्थिति में ऑनलाइन तरीके से लांच किया गया। इस मौके पर सिरम इंस्टीट्यूट  के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) अदार पूनावाला ने कहा कि वैक्सीन के पचास मिलियन डोस तैयार कर लिए गए है। सरकार जल्द ही इनके आपात इस्तेमाल को मंजूरी दे सकती है।   वैक्सीन को लांच करने के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि इस वैक्सीन का लांच होना देश के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है। यह सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में एक मिल का पत्थर साबित होगी। हमारा उद्देश्य है कि भारत के साथ ही कम आयवाले सभी देशों को यह वैक्सीन सहजता से उपलब्ध हो। उच्च गुणवत्ता वाली इस वैक्सीन से खास तौर से बच्चों को संक्रमण से फैलानेवाली बीमारी व न्यूमोनिया से राहत मिलेगी। इस वैक्सीन की कीमत को आम लोगों की पहुंच के भीतर रखने का प्रयास किया जाएगा। जिससे सभी लोग इससे लाभन्नवित हो सके।

भारत को मिलेगा सबसे पहले वैक्सीन
सिरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने कहा है कि कोरोना वैक्सीन ‘कोविशील्ड ‘ की 4-5 करोड़ खुराक सबसे पहले भारत को दी जाएगी। सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदार पूनावाला ने कहा कि कोरोना वैक्सीन ‘कोविशील्ड की 4-5 करोड़ खुराक सबसे पहले भारत को दी जाएगी। अदार पूनावाला ने आगे कहा कि 2021 के पहले छह महीनों में वैश्विक स्तर पर कमी देखने को मिलेगी और इसका कोई समाधान भी नहीं है। लेकिन अगस्त-सितंबर 2021 तक अन्य वैक्सीन निर्माता कंपनी भी टीके की आपूर्ति करने में सक्षम होंगे। पुनावाला ने कहा है कि कई सालों से हमारा प्रयास था कि उच्च गुणवत्ता वाली वैक्सीन तैयार की जाए। जो पूरे विश्व में टीकाकरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाए। इस वैक्सीन से हमने अपने उद्देश्य को पूरा करने का प्रयास किया है।
 

खबरें और भी हैं...