दैनिक भास्कर हिंदी: दिल्ली मे क्षितिज द्वारा भोपाल के शशि कुमार केसवानी का किया विशेष सम्मान

February 21st, 2019

डिजिटल डेस्क, भोपाल। इंडियन आइडल की तर्ज़ पर काव्य जगत के लिए प्रथम इंडियन आइकोनिक पोएट की खोज में क्षितिज संस्था द्वारा आयोजित चिर प्रतीक्षित कार्यक्रम ख़िताब - ए - क्षितिज  (सीजन-1), बीते शनिवार 16 फ़रवरी को दिल्ली में मुक्तधारा ऑडिटोरियम में भव्यता के साथ संपन्न हुआ। संस्थापिका रंजीता अशेष ने बताया कि कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य नए लोगों के हुनर को सम्मान और पहचान देने के साथ साथ समाज को कविता से जोड़ना भी है।

इस कार्यक्रम के लिए देश के विभिन्न राज्यों से 15 कवियों ने भाग लिया। इन लोगों का चयन तीन लोगों की ज्यूरी और क्षितिज फेसबुक ग्रुप पर पोलिंग के निर्णय के बाद हुआ था। अंतिम चरण में विजेता चुनने के लिए भी मौजूद श्रोता और ज्यूरी के मिले जुले निर्णय का माध्यम तय हुआ। प्रतिभागियों में अभिषेक मिश्रा, प्रमोद आर्य, बृज बिहारी दुबे, मिताली राज तिवारी, कमल तोमर, तनेश जिंदल, रश्मि सक्सेना, अंजू मल्होत्रा, रिचा दीक्षित, वैभव सिंघल, नीरा नीरू, शशांक गोयल, अंश राजोरा, कुलदीप कौर और शुभी मिश्रा ने अपनी दावेदारी प्रस्तुत की। जिसमें जयपुर से तनेष जिंदल प्रथम, दिल्ली से अभिषेक मिश्रा द्वितीय और आगरा से मिताली राज़ तृतीय स्थान पर रहीं। विजेताओं को कैश प्राइज, ट्रॉफी और अन्य पुरस्कारों से सम्मानित किया गया।

इस कार्यक्रम में MS talk's के प्रेसिडेंट शैरी, मिसिज इंडिया एनसीआर की डायरेक्टर रेशम चावला एवं अंतरराष्ट्रीय लेखक और प्रोफेसर संतोष बकाया जी मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहीं। जिन्होंने युवाओं को ग्रूमिंग, पोएट्री  और मोटीवेशन पर क्षितिज का बहुचर्चित जी.एम.पी सेशन लिया। इसके अतिरिक्त कार्यक्रम में गायक राजीव.आर. निर्णायक, भोपाल से शशि कुमार केसवानी का विशेष सम्मान किया गया। कॉन्फ्रेंस विवर ड्रिम्स की डॉ गगनदीप कौर, कर्नल श्याम, मिसिज इंडिया इंटरनेशनल राधिका तेजपाल और रिटायर्ड एयर मार्शल एल के वर्मा ने कवियों को प्रोत्साहित किया।

कविता के साथ साथ दर्शकों ने पल्लवी सिंह का क्लासिकल नृत्य, अलीगढ़ के प्रेरणा ऐंड केशव का बैंड और बच्चों के इपक्षिता ऐंड ग्रुप का जुम्बा, पंजाबी गायक हरदीप सिंह के गीत को भी खूब सराहा। कार्यक्रम तीन लेखकों शुभांग डिमरी, अवदेश कनौजिया और सीमा गर्ग जी की पुस्तक विमोचन का भी साक्षी रहा। पूरे कार्यक्रम का संचालन अनुराग परिहार, शुभांग डिमरी, प्रिंस कालरा और नील धनगर ने किया। 
नील धनगर से ने ऐसा समा बाधा के देश भर से आए लोग तालियों से गड़गड़ाता रहा।

 

खबरें और भी हैं...