• Dainik Bhaskar Hindi
  • State
  • state of drought in Marathwada region but importance is given to Vidarbha incomplete irrigation projects

दैनिक भास्कर हिंदी: मंत्रिमंडल की बैठक में सूखे पर हुई चर्चा, विदर्भ को अधिक तवज्जो दिए जाने से शिवसेना के मंत्री रावते नाराज

October 16th, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। मराठवाड़ा अंचल में लगातार सूखे की स्थिति के बावजूद विदर्भ की अधूरी सिंचाई परियोजनाओं को पूरा करने के लिए ज्यादा महत्व दिए जाने से प्रदेश के परिवहन मंत्री दिवाकर रावते खफा हैं। मंगलवार को राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में रावते ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के सामने यह मुद्दा उठाया। रावते की नाराजगी के बाद मुख्यमंत्री ने मराठवाड़ा संभाग की 25 अधूरी परियोजनाओं के लिए केंद्र सरकार से निधि मांगने संबंधित प्रस्ताव तैयार का निर्देश विभाग के सचिव को दिया।

सूत्रों के अनुसार बैठक में रावते ने कहा कि सरकार ने 1 अक्टूबर 2018 को राज्य की अधूरी सिंचाई परियोजनाओं को केंद्र सरकार की आर्थिक मदद से तत्काल पूरा करने के बारे में आदेश जारी किया है। इसमें विदर्भ की 78 परियोजना, मराठवाड़ा की 2 परियोजना, नाशिक की 3 परियोजना और कोंकण की 6 परियोजनाएं शामिल हैं। इन परियोजनाओं को साल भर में पूरा करने का लक्ष्य है। रावते ने कहा कि विदर्भ का क्षेत्रीय असंतुलन दूर करने के लिए काफी परियोजनाओं को शामिल किया गया है लेकिन इसमें मराठवाड़ा की अनदेखी की गई है। इस सूची में मराठवाड़ा की और परियोजनाओं को शामिल किया जाना चाहिए। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि दुर्भाग्य से मराठवाड़ा में सूखे की स्थिति है। संभाग में पीने के पानी समेत अन्य समस्याएं हैं। इसलिए मराठवाड़ा की 25 परियोजनाओं को जल्द पूरा करने के लिए केंद्र से मदद मांगी जाएगी। इस पर रावते ने कहा कि मुझे सरकार से अपेक्षा है कि मराठवाडा संभाग की परियोजना जल्द पूरी होंगी।

31 अक्टूबर तक सूखा प्रभावितों की मदद के लिए सरकार करेगी घोषणा
प्रदेश सरकार 31 अक्टूबर तक राज्य के सूखा प्रभावितों की मदद के लिए नीतिगत घोषणा करेगी। मंत्री रावते ने कहा कि मराठवाड़ा समेत दूसरे अंचल में सूखे की स्थिति गंभीर है। इसलिए हम लोगों ने मुख्यमंत्री से जल्द मदद घोषित करने की मांग की है। राज्य के सभी पालकमंत्री सूखा प्रभावित इलाकों का दौरा कर रहे हैं। सभी मंत्री 30 अक्टूबर तक मुख्यमंत्री को दौरे की रिपोर्ट देंगे। इसके बाद सरकार की तरफ सूखा प्रभावितों की मदद के लिए घोषणा की जाएगी।