comScore

क्रिप्टो करेंसी की आड़ में करोड़ों की ठगी, जबलपुर के रैकवार दंपति गिरफ्तार

क्रिप्टो करेंसी की आड़ में करोड़ों की ठगी, जबलपुर के रैकवार दंपति गिरफ्तार

डिजिटल डेस्क, भोपाल। क्रिप्टो करेंसी की आड़ में करोड़ों की ठगी कर रहे जबलपुर के रैकवार दंपति को एसटीएफ ने मंगलवार को गिरफ्तार किया। गिरोह के अन्य सदस्य अभी फरार है। एसटीएफ का अनुमान है कि ये गिरोह 50 करोड़ से अधिक की ठगी कर चुका है। जांच में रैकवार दंपति के बैंक अकाउंट में चार करोड़ का हिसाब मिल है। गिरोह के तार हांगकांग, चीन, मलेशिया और थाइलेंड से जुड़े हुए हैं। 

स्पेशल डीजी एसटीएफ पुरुषोत्तम शर्मा ने बताया कि जबलपुर के शक्ति नगर में रहने वाले ब्रजेश रैकवार (36) और उनकी पत्नी सीमा रैकवार को ठगी के मामले में गिरफ्तार किया गया है। रैकवार दंपति भारत में इस कारोबार के प्रमोटर की भूमिका में थे। आरोपी दंपति ने बिट कॉइन, गोल्ड यूनियन कॉइन जैसी क्रिप्टो कंपनी से करोड़ों रुपए कमाए हैं। 

फिल्म में किया निवेश

जांच में सामने आया है कि आरोपी ने कमाए पैसों को एपी-3 मॉशन पिक्चर्स प्रोडक्शन में फिल्म के लिए निवेश किया था। जमीन, मकान, दुकान,गोवा के कसीनो, हांगकांग, दुबई, थाईलैंड, मलेशिया, चीन, सिंगापुर आदि देशों में मौज-मस्ती में करोड़ों रुपए खर्च किए। 

व्यापार को भारतीय स्वरूप देने की तैयारी

आरोपियों ने ठगी को भारतीय स्वरूप देने की तैयारी में थे। प्लस गोल्ड, यूनियन कॉइन की वेबसाइट बनवाने के लिए बैंगलुरु और जयपुर के फर्मों से करार भी किया था। मुंबई, दिल्ली, भोपाल, रायपुर और अमृतसर में क्रिप्टो करेंसी व्यवसाय को फैलाने के लिए कई कांफ्रेंस भी की थी।

क्या है क्रिप्टो करेंसी

क्रिप्टो करेंसी एक ऐसी मुद्रा है जो कंप्यूटर एल्गोरिथ्म पर बनी होती है। यह एक स्वतंत्र मुद्रा है जिसका मालिक कोई नहीं होता। यह करेंसी किसी भी अथॉरिटी के काबू में नहीं होती। आमतौर पर इसका प्रयोग किसी सामान की खरीदारी या कोई सर्विस खरीदने के लिए किया जा सकता है। 

कमेंट करें
TYiRV
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।