अमरावती में शिक्षारत: अंतरराज्यीय सरगना के साथ स्नैचिंग करने वाला छात्र पकड़ाया

February 28th, 2022

डिजिटल डेस्क, नागपुर। सीआरपीएफ जवान की मां का पर्स छीनकर भागे दो आरोपियों में से पुलिस ने एक आरोपी आयुष रमेश चांदेकर (22), नागसेन नगर, नालवाड़ी,  रामनगर, वर्धा निवासी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी अपने करीबी मित्र  रोहन ज्ञानेश्वर टिके, सेलु, वर्धा निवासी के साथ मिलकर घटना को अंजाम देता था। रोहन मूलत: दिल्ली निवासी है। पुलिस ने आरोपी आयुष से करीब 72 हजार रुपए का माल जब्त किया है। आयुष अंतरराज्यीय चेन स्नैचर रोहन के साथ मिलकर नागपुर में स्नैचिंग की घटनाओं को अंजाम देता था। पुलिस ने आरोपी को पकड़कर आरोपियों का पर्दाफाश किया है। 

सरगना अमरावती जेल में बंद है : पर्दाफाश क्राइम ब्रांच पुलिस विभाग के सेंधमारी विरोधी दस्ते के प्रमुख सहायक पुलिस निरीक्षक मयूर चौरसिया ने सहयोगियों के साथ मिलकर किया। आरोपी आयुष को वर्धा से गिरफ्तार किया गया। उसका साथी रोहन अमरावती जेल में बंद है। आयुष बीसीए की अमरावती से पढ़ाई कर रहा है। आयुष के पिता बैंक अधिकारी हैं।

सीआरपीएफ के जवान की मां का पर्स छीनकर भागे थे : पुलिस के अनुसार मंगलमूर्ति चौक से त्रिमूर्ति नगर चौक की ओर जाते समय सीआरपीएफ जवान नरेंद्र ढबाले की पत्नी  विघा ढबाले (35), सीआरपीएफ क्वार्टर,  साेनेगांव निवासी गत 6 अक्टूबर 2021 को डिओ पर अपनी सास को बैठाकर घर जा रही थी, तब कोटक बैंक के सामने बाइक पर आए आरोपी विघा का सास का पर्स छीनकर और फरार हो गए थे।  पर्स में मोबाइल भी था। विघा की शिकायत पर प्रतापनगर पुलिस ने मामला दर्ज किया।

सेंधमारी विरोधी दस्ते ने धरदबोचा  : इस मामले की जांच सेंधमारी विरोधी दस्ता कर रहा था। दस्ता प्रमुख मयूर चौरसिया को गुप्त सूचना मिलने पर उन्होंने  सीसीटीवी कैमरे व तकनीकी पद्धति का उपयोग आरोपियों का सुराग खोज निकाला। साइबर सेल पुलिस की मदद से आरोपी आयुष को हिरासत में लिया। पूछताछ में आयुष ने स्वीकार किया कि, रोहन के साथ मिलकर उसने प्रताप नगर में पर्स  छीना था। पश्चात वर्धा जाते समय बुटीबोरी में  बैंक आॅफ इंडिया के एटीएम के पास एक महिला के गहने छीने थे।  पुलिस ने आयुष से दो मोबाइल, एवेंजर बाइक (एम.एच.-40-ए.डब्ल्यू.-2920 जब्त की है। 

कुछ दिन पहले ही अमरावती जेल से छूटा है छात्र : फरार आरोपी रोहन टिके के बारे में खोजबीन करने पर पुलिस को पता चला कि, रोहन राजापेठ, अमरावती में चेन स्नैचिंग के मामले में  जेल में बंद है। आयुष चांदेकर कुछ दिन पहले ही अमरावती जेल से छूटा है। आयुष पर नागपुर शहर में कई चेन स्नैचिंग के मामले दर्ज होने की संभावना पुलिस ने जताई है।   रोहन टिके पर करीब 40 चेन स्नैचिंग के मामले दर्ज हैं। वह दिल्ली में भी चेन स्नैचिंग कर चुका है। 

ऐसे हुई दोनों की दोस्ती 
आयुष और रोहन पुराने दोस्त हैं। रोहन का भाई नागपुर में आयुष के साथ पढ़ई करता था। रोहन भाई से मिलने नागपुर आता था। इस दौरान दोनों अच्छे दोस्त बन गए। आयुष को महंगे शौक लग गए और रोहन और आयुष अपने शौक पूरे करने के लिए चेन स्नैचर बन गए। कार्रवाई में दस्ते के  उप-निरीक्षक  बलराम झाड़ोकर, नायब सिपाही  प्रवीण रोडे, रवि अहीर, नरेंद्र ठाकुर, सुहास शिंगणे,  मतीन शेख,  विवेक श्रीपाद ने सहयोग किया। 

खबरें और भी हैं...