comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

रेलवे को सुझाव : नागपुर से भोपाल के बीच शुरू करें इंटरसिटी एक्सप्रेस

September 09th, 2018 19:06 IST
रेलवे को सुझाव : नागपुर से भोपाल के बीच शुरू करें इंटरसिटी एक्सप्रेस

डिजिटल डेस्क, नागपुर। मध्य रेलवे नागपुर मंडल अंतर्गत सांसदों के साथ परामर्श बैठक का आयोजन किया गया। डीआरएम कार्यालय में 2 घंटे चली बैठक में जनप्रतिनिधियों की ओर से अपने-अपने क्षेत्र से जुड़े सुझाव रखे गए, जिसमें नागपुर से भोपाल के लिए इंटरसिटी एक्सप्रेस शुरू करने की मांग के साथ विभिन्न मांगें रखी गईं।

इस अवसर पर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक डी.के. शर्मा, सीसीएम आदि वरिष्ठ रेलवे अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में नागपुर मंडल से सांसद सदस्य ज्योति धुर्वे, वर्धा क्षेत्र के रामदास तड़स, डॉ. विकास महात्मे ने अपने-अपने संसदीय क्षेत्र के रेल यात्री सुविधाओं से संबधित सुझाव रखे, जिसमें विदिशा या भोपाल से नागपुर तक नई इंटरसिटी एक्सप्रेस शुरू करने, गाड़ी संख्या 22111/22112 भुसावल-नागपुर दादाधाम साप्ताहिक एक्सप्रेस को प्रतिदिन चलाने, गाड़ी संख्या 12914/12924 नागपुर-इंदौर एवं 12913/12923 इंदौर-नागपुर सप्ताह मे 2 दिन चलने वाली गाड़ी को प्रतिदिन तथा नियमित करने,  गाड़ी संख्या 12112/12111 नरखेड़-अमरावती एक्सप्रेस गाड़ी को बैतूल रेलवे स्टेशन तक विस्तारित करने की मांग की गई।  बैतूल रेलवे स्टेशन पर अत्याधुनिक सुविधाएं उपलब्ध कराना, बरबटपुर रेलवे स्टेशन पर (16031/16032) अंडमान जयंती जनता एक्सप्रेस का स्टॉपेज, गाड़ी संख्या 12906/12905 हावड़ा-पोरबंदर सुपर फास्ट एक्सप्रेस को वर्धा स्टेशन पर स्टापेज देना, गाड़ी संख्या 12113/12114 नागपुर-पुणे गरीब रथ एक्सप्रेस को धामणगांव स्टेशन पर स्टापेज देना, गाड़ी संख्या 12771/12772 सिकंदरबाद-नागपुर एक्सप्रेस को हिंगणघाट स्टेशन पर स्टापेज देना, नागपुर-बल्लारशाह के बीच नई इंटरसिटी एक्सप्रेस शुरू करने की बात रखी गई। वर्धा-यवतमाल-नांदेड नई रेल लाइन की समीक्षा करने और नागपुर से औरंगाबाद नई ट्रेन शुरू करने, नागपुर से मुंबई एवं मुंबई से नागपुर चलने वाली सभी गाड़ियों का अल्प स्टापेज बुटीबोरी स्टेशन पर देने की मांग की गई। संसद सदस्य आनंदराव अडसुल, संजय धोत्रे, प्रतापराव जाधव ने भी सुझाव रखे। महाप्रबंधक ने  इस पर विचार करने का आश्वासन दिया।

शहर के मेट्रो स्टेशनों पर लगेंगे 962 सोलर पैनल
उधर महामेट्रो ने सोलर पैनल लगाने का निर्णय लिया है। इससे हर साल बिजली से करोड़ों रुपए की बचत होगी। शहर के सभी मेट्रो स्टेशनों पर इसे चरणबद्ध तरीके से लगाया जाएगा। फिलहाल न्यू एयरपोर्ट, खापरी व साउथ एयरपोर्ट पर सोलर पैनल लगाने का काम पूरा हो चुका है। भविष्य में सोलर पैनल की बदौलत मेट्रो 12 करोड़ रुपए की बिजली प्रति वर्ष बचाएगी। नागपुर शहर में मेट्रो रेल अगले वर्ष मार्च महीने से चलने वाली है। 30 से ज्यादा स्टेशन बनाए जाएंगे। रेल व स्टेशनों के व्यवस्थापन के लिए मेट्रो को काफी बिजली की जरूरत होगी, जिसका खर्च भी करोड़ों में होगा। इससे बचने के लिए मेट्रो सोलर पैनल की मदद लेगी।

पहले चरण में न्यू एयरपोर्ट व खापरी स्टेशन पर सोलर पैनल लगाए गए हैं और अन्य स्टेशनों पर लगाए जाएंगे। कुल 962 सोलर पैनल लगाए जाएंगे। यह काम सरकार के ‘मेक इन इंडिया’ योजना अंतर्गत किया जाएगा। पारंपारिक पद्धति से मिलने वाली बिजली की कीमत 9.67 पैसे है। सौर ऊर्जा से मिलने वाली बिजली उन्हें 0.58 पैसे प्रति यूनिट के अनुसार मिलने वाली है। ऐसे में 9.09 पैसे प्रति यूनिट बचत होने से करोड़ों की राशि बचेगी। सोलर पैनल कार्यालयों में भी लगाए जाएंगे। ताप बिजली केंद्र से या अन्य पारंपरिक माध्यम से निर्मित बिजली के कारण पर्यावरण को नुकसान पहुंचता है। ऐसे में पर्यावरण संरक्षण का ध्येय भी पूरा होगा।

कमेंट करें
SRcu5