दैनिक भास्कर हिंदी: मुख्यमंत्री करेंगे गांवों का दौरा जानेंगे स्वच्छता की सच्चाई

September 28th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। स्वच्छ भारत अभियान में राज्य के अग्रसर होने का दावा किया गया है। इस दावे की सच्चाई जानने के लिए मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस खुद गांवों में पहुंचकर स्वच्छता का निरीक्षण करेंगे। नागपुर जिले की एक ग्राम पंचायत का दौरा कर निरीक्षण किया जाएगा। मुख्यमंत्री के दौरे की तारीख 29 सितंबर निश्चित की गई है। स्वच्छ गांव का निरीक्षण करने मुख्यमंत्री का दौरा निश्चित होने से जिला परिषद प्रशासन में खलबली है। मुख्यमंत्री को किस गांव का दौरा कराना, इसे लेकर तीन दिन से माथापच्ची चल रही है। उल्लेखनीय है कि स्वच्छ भारत अभियान के तहत जिन गांवों में अभियान चलाया जाता है वहां की स्थिति बिकट है। कई गांवों में पानी की कमी है। जलसंकट के चलते लोग शौचालय में जाने की बजाए खुले में जाना पसंद करते हैं। ऐसे में मुख्यमंत्री के इन सब हालातों से रूबरू होने की संभावना नजर नहीं आ रही है। 

निकाला यह उपाय
नागपुर जिला ‘खुले में शौचमुक्त’ घोषित किया गया है। स्वच्छता मिशन में भी अग्रसर होने का दावा किया जा रहा है। परंतु आलम यह है कि आज भी अनेक गांवाें में खुले में शौच करने वालों की कमी नहीं है। मुख्यमंत्री के निरीक्षण दौरे में स्वच्छता के दावे की पोल खुल न जाए, इसे लेकर जिला परिषद प्रशासन घबराया हुआ है। स्वच्छता की कसौटी पर खरा उतने वाली ग्राम पंचायत का मुख्यमंत्री को निरीक्षण करने की सावधानी बरती जा रही है। इस कार्य में प्रशासन ने जिला परिषद अध्यक्ष निशा सावरकर की सहायता ली है। उन्हीं को मुख्यमंत्री के निरीक्षण दौरे का गांव निश्चित करने का अधिकार दे दिया गया है। अध्यक्ष ने मौके का फायदा उठाकर अपने ही सर्कल के 3 गांवों का सुझाव दे दिया है। इनमें से किसी एक गांव का चयन किया जाएगा। हाल ही में इस विषय पर अध्यक्ष के कक्ष में अधिकारियों की बैठक हुई। अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी अंकुश केदार, उपमुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रमिला जाखलेकर, रवींद्र भोयर तथा महिला व बाल विकास विभाग एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...