comScore

झारखंड में स्वामी अग्निवेश को पीटा, कपड़े भी फाड़े, BJP कार्यकर्ताओं पर आरोप

July 18th, 2018 16:00 IST

हाईलाइट

  • झारखंड के पाकुड़ जिले में कुछ लोगों ने मंगलवार को सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश की पिटाई कर दी।
  • ये लोग ABVP और बीजेपी युवा मोर्चा के कार्यकर्ता थे।
  • ये लोग स्वामी अग्निवेश के दौरे का विरोध कर रहे थे।
  • झारखंड सीएम रघुबर दास ने इस मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं।

डिजिटल डेस्क, रांची। झारखंड के पाकुड़ जिले में कुछ लोगों ने मंगलवार को सामाजिक कार्यकर्ता स्वामी अग्निवेश की पिटाई कर दी। बताया जा रहा है कि ये लोग ABVP और बीजेपी युवा मोर्चा के कार्यकर्ता थे। ये लोग स्वामी अग्निवेश के दौरे का विरोध कर रहे थे। झारखंड सीएम रघुबर दास ने इस मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं।


इस मारपीट का वीडियो भी सामने आ रहा है। वीडियो में भीड़ स्वामी अग्निवेश और उनके समर्थकों के पीटते हुए नजर आ रही है। वीडियो में उग्र भीड़ को मारपीट के साथ-साथ स्वामी अग्निवेश के कपड़े फाड़ते हुए भी देखा जा रहा है। बता दें कि स्वामी अग्निवेश अखिल भारतीय आदिम जनजाति विकास समिति दामिन दिवस के 195वें वर्षगांठ पर आयोजित पहाड़िया समुदाय की  एक सभा को संबोधित करने वाले थे। सभा के पहले एक प्रेस कांफ्रेंस में दिए गए उनके बयानों से हिंदू वादी संगठन नाराज हो गए थे। हिंदू वादी संगठनों का कहना था कि अग्निवेश यहां ईसाई मिशनरीज़ की ओर से आदिवासियों को भड़काने और धर्मांतरण के लिए आए हैं। नाराजगी जाहिर करने के लिए ही ये लोग अग्निवेश को काले झंडे दिखा रहे थे और गो बैक के नारे लगा रहे थे।

इसी विरोध प्रदर्शन के दौरान भीड़ उग्र हो गई और अग्रिवेश के साथ धक्का-मुक्की होने लगी। जब अग्निवेश के समर्थकों ने इसका विरोध किया तो भीड़ ने पहले तो समर्थकों की पिटाई की और बाद में स्वामी अग्निवेश को भी पीट दिया। प्रदर्शनकारी यहीं नहीं रूके, इन्होंने स्वामी अग्निवेश को नीचे गिरा दिया और पगड़ी भी खोल दी। 

स्वामी अग्निवेश का कहना है कि जब वे होटल से बाहर निकले तो अचानक भीड़ ने उन पर हमला कर दिया। उन्होंने कहा, 'मैं चाहता हूं कि CCTV फुटेज और उपलब्ध वीडियो के जरिए दोषियों को पकड़ा जाए और उन्हें कड़ी सजा दी जाए।' स्वामी अग्निवेश ने इसके लिए पुलिस को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा, 'मैंने SP और DM को कहा था कि ABVP और BJP युवा मोर्चा विरोध प्रदर्शन करेंगे, लेकिन इसके बावजूद वहां कोई पुलिसकर्मी तैनात नहीं था। मैंने ABVP और BJP युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं से भी निवेदन किया था कि उन्हें प्रदर्शन करने की कोई जरुरत नहीं है, हम बैठकर बात कर सकते हैं, लेकिन उनकी ओर से कोई भी बात करने नहीं आया।'
 


इधर झारखंड बीजेपी प्रवक्ता पी शाहदेव ने कहा है कि इस मामले का ABVP और BJP युवा मोर्चा से कोई लेना देना नहीं है। उन्होंने कहा, 'हम इसका विरोध करते हैं लेकिन मैं बता दूं कि वे लोग ABVP और BJP युवा मोर्चा के कार्यकर्ता नहीं थे।'

कमेंट करें
EybV7