जिलाधिकारी ने कहा: झोलाछाप डाक्टरों पर अंकुश लगाने सख्त कदम उठाएं

December 22nd, 2021

डिजिटल डेस्क, अमरावती। झोलाछाप डाक्टरों पर अंकुश लगाने के लिए प्राप्त शिकायतों पर कार्रवाई की जाए। साथ ही स्यू-मोटो कार्रवाई भी करें। स्थापित समिति ने इस संबंध में पहल करते हुए कहा कि कार्रवाई करना जरूरी है। उसी तरह तहसील स्तर पर निजी चिकित्सा पेशेवरों की डिग्री, पंजीकरण आदि की जांच करने के निर्देश जिलाधिकारी पवनीत कौर ने दिए। 

फर्जी चिकित्सा व्यवसाय प्रतिबंध समिति की बैठक में वे बाेल रही थी।   जिलाधिकारी कार्यालय में हुई इस बैठक में जिला शल्य चिकित्सक डा. श्यामसंुदर निकम, अतिरिक्त जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. रेवती साबले, डा. ए. टी. देशमुख, डा. विजय अजमिरे, सहायक पुलिस आयुक्त लक्ष्मण डुंबरे, पुलिस उपअधीक्षक प्रदीप सूर्यवंशी, अन्न व औषधि प्रशासन के सहायक आयुक्त हिमेश घलोटे, डा. विशाल काले मौजूद थे। फर्जी डाक्टरों के खिलाफ अब तक 11 मामले दर्ज किए गए है। फर्जी डाक्टरों के खिलाफ मिली शिकायतों को ध्यान में रखते हुए यह कार्रवाई की गई। जांच शिकायतें लंबित है। उन पर भी तत्काल कार्रवाई की जाए, ऐसा जिलाधिकारी ने कहा।