दैनिक भास्कर हिंदी: तारिक के सियासी ठिकाने को लेकर कयासबाजी, RJD में भी दिख रहा अपना भविष्य 

September 29th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। NCP से नाता तोड़ चुके पूर्व केन्द्रीय मंत्री तारिक अनवर के अगले सियासी ठिकाने को लेकर कयासबाजी जारी है। वैसे तारिक की कांग्रेस में घरवापसी लगभग तय मानी जा रही है, लेकिन उनके सामने राष्ट्रीय जनता दल (RJD) भी एक अच्छा विकल्प है। सूत्र बताते हैं कि बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और RJD नेता तेजस्वी यादव ने तारिक अनवर से बात की है।

पवार की संभावित नाराजगी से आशंकित है कांग्रेस
हालांकि तारिक ने यह कहकर कांग्रेस के साथ जाने की संभावना को आधार दिया है कि सोनिया गांधी के विदेशी मूल का मुद्दा उठाना उनकी गलती थी। कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि मृदुभाषी तारिक अनवर के लिए पार्टी के दरवाजे हमेशा खुले हैं, लेकिन कांग्रेस के एक खेमे ने उन्हें आनन-फानन में पार्टी में लेने के बाद संभावित जोखिम को लेकर भी सतर्क किया है। पार्टी को डर है कि तारिक अनवर को पार्टी में लेने के बाद कहीं राकांपा सुप्रीमों शरद पवार की नाराजगी सामने न आ जाए।

बता दें कि शरद पवार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ बनने वाले विपक्षी महागठबंधन के सूत्रधार के तौर पर भी देखे जा रहे हैं। ऐसे में तारिक के बहाने मराठा क्षत्रप के मुंह फुलाने की संभावना है। लिहाजा कांग्रेस नेतृत्व तारिक मामले में सोंच समझकर फैसला करने के मूड में है। दरअसल इसके पहले बसपा से निकाले गए नसीमुद्दीन सिद्दिकी के मामले में कांग्रेस को करंट लग चुका है। बसपा सुप्रीमों मायावती इस बात को लेकर आज भी कांग्रेस से नाराज बताई जा रही है।

…तो RJD को मिल जाएगा राष्ट्रीय कद का नेता
तारिक अनवर के लिए RJD भी मुफीद पार्टी मानी जा रही है। चूंूकि अनवर को बिहार से ही चुनाव लड़ना है, ऐसे में प्रदेश की सबसे बड़ी पार्टी RJD उनके लिए बेहतर विकल्प रहेगा। उधर RJD को भी लालू प्रसाद यादव की गैरमौजूदगी में तारिक अनवर जैसा राष्ट्रीय कद का एक सुलझा हुआ नेता मिल जाएगा। यही वजह है कि तेजस्वी ने तत्काल तारिक अनवर से बात की है। बता दें कि रफाल डील पर शरद पवार के रवैए से खफा होकर तारिक अनवर ने राकांपा और सांसदी छोड़ दी है। 

खबरें और भी हैं...