सीधी : टीम मध्यप्रदेश की जनता के लिए दिन-रात कार्य करने में जुटे- मुख्यमंत्री श्री चौहान

December 17th, 2021

डिजिटल डेस्क, सीधी। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश को तेजी से आगे ले जाना है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के निर्देशों पर कार्य कर केन्द्र सरकार की योजनाओं में नंबर-1 रहने की कोशिश करें। राजस्व बढ़ाने के लिए हरसंभव प्रयास करें। ईज ऑफ डूईंग बिजनेस एवं ईज ऑफ लिविंग दोनों के लिए प्राथमिकता से कार्य करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मंत्रालय में मंत्रि-परिषद के सदस्यों, अतिरिक्त मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव, सचिव तथा विभागाध्यक्षों को संबोधित कर रहे थे। बैठक की शुरूआत वंदे मातरम गान के साथ हुई। मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, डीजीपी श्री विवेक जौहरी सहित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि टीम मध्यप्रदेश जनता के लिए दिन-रात कार्य करने में जुटे। सभी आवश्यक कार्य करते हुए कोविड को कंट्रोल करना हमारी प्राथमिकता है। सभी व्यवस्थाएँ चाक-चौबंद रहें। बिना टीका लगवाए कोई भी व्यक्ति न रहे। सेकण्ड डोज़ का टारगेट समय पर पूरा करें।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि विभाग अपने बजट का उपयोग समय पर करें। जो विभाग पैसा खर्च नहीं कर पाएंगे उनके बजट का पैसा दूसरे विभागों को दे दिया जाएगा। केन्द्र सरकार से संबंधित योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए आवश्यक राशि की मांग करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हम भारत सरकार की अनेकों योजनाओं में नम्बर वन है। हमारी कोशिश सभी योजनाओं में नम्बर वन रहने की होना चाहिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि केन्द्र सरकार की जैसे ही कोई नई स्कीम लॉच हो उस पर तत्काल हमारा ध्यान जाए। राजस्व संग्रहण के लिए अतिरिक्त कोशिश करें। प्रदेश के विकास का आधार राजस्व ही है। रेवेन्यू संग्रहण की बैठक हर हफ्ते हो। इसी पर प्रदेश की प्रगति निर्भर है। राजस्व बढ़ाने के लिए विशेषज्ञों के माध्यम से कोशिश करें। अधिकतम राजस्व संग्रहण हो।

मुख्यमंत्री  ने कहा कि कृषि के विविधीकरण का मुद्दा बहुत महत्वपूर्ण है। विभिन्न फसलों की खेती के विकल्प लिए तेजी से प्रयास किए जाएँ। प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देने के लिए गंभीरता से कार्य करें। मोटा अनाज, कोदो-कुटकी, ज्वार-बाजरा की फसलों के उत्पादन पर ध्यान दें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि विकास के लिए रोडमेप बनाकर लक्ष्य निर्धारित कर समय-सीमा में पूरा करें। राजस्व बढ़े, काम की गुणवत्ता ठीक हो। इन्फ्रा-स्ट्रक्चर के कामों में देरी न हो। गुणवत्तापूर्ण काम समय पर पूरा नहीं होने पर पेनल्टी लगाकर कार्यवाही की जाए। व्यापार, निवेश और रोजगार बढ़ाने के लिए प्रयास किए जाएँ। स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध करायें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जेम पोर्टल का इस्तेमाल अधिकाधिक हो। विदेशी मुद्रा लाने के लिए निर्यात पर पर ध्यान दें। ष्एक जिला-एक उत्पादष् को लेकर काम करें। कच्चा माल, कृषि उत्पाद निर्यात किये जा सकते हैं।

स्टार्टअप के क्षेत्र में ध्यान दें। आत्म-निर्भर भारत निर्माण योजना और रोजगार योजना पर ध्यान देकर कार्य करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि पीएम गति शक्ति प्रोजेक्ट पर तेज गति से कार्य करें। बेहतर समन्वय एवं इन्फ्रा-स्ट्रक्चर के क्षेत्र में केन्द्र सरकार के साथ साझा विजन में कार्य किया जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि शहरों के मास्टर प्लान बनाने की तैयारी करें। बिना मास्टर प्लान के शहरों की प्लानिंग नहीं हो सकती। प्रभारी मंत्री अपने प्रभार के जिलों एवं संबंधित अधिकारी मास्टर प्लान तैयार करें। शहर का गौरव पैदा करने के लिए भी कार्य करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना लोगों की जिन्दगी में क्रांति ला सकती है। इसको बेहतर और प्रभावी बनाकर लागू करें। प्रायवेट अस्पतालों में इस योजना का लाभ कार्डधारियों को दिलाए जाने के लिए प्रभावी रूप से कार्य हो। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि आईटीआई पहले से बेहतर हुई है।

कौशल विकास के क्षेत्र में आज की जरूरत के हिसाब से और तेजी से काम किया जाये। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि एनीसीसी, एनएनएस और संस्कार देने वाली शिक्षा को पाठ्यक्रमों में जोड़ें। मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेजों में हिन्दी में पढ़ाई कराने के लिए कार्य-योजना बनाएँ। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि भू-अधिकार योजना में प्लाट देने का अभियान शुरू कर दें। रोड कनेक्टिविटी, पीने का पानी, उज्जवला गैस कनेक्शन, बिजली, आयुष्मान कार्ड तथा रोजगार के प्रयास हों। आत्म-निर्भर परिवार बनाने की क्रांति लाएँ। कोई भी व्यक्ति बुनियादी सुविधाओं से वंचित नहीं रहें। पात्रों का राशन दिलाने और बैंक मे%

खबरें और भी हैं...