दैनिक भास्कर हिंदी: ऑनलाइन दवा बिक्री के विरोध में केमिस्टों का बंद 28 को

September 26th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। ऑनलाइन औषधि बिक्री की केंद्र सरकार की नीति का औषधि विक्रेताओं ने तीव्र विरोध किया है। इस निर्णय के विरोध में 28 सितंबर को बंद का ऐलान किए जाने की जानकारी नागपुर डिस्ट्रिक्ट केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष राजेंद्र कावडकर ने प्रेस कांफ्रेंस में दी। ई-फार्मसीज, पोर्टल्स अथवा इंटरनेट के माध्यम से गैरकानूनी औषधि की बिक्री होने के अनेक केसेस ऑल इंडिया आॅर्गनाइजेशन ऑफ केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट संगठन की ओर से खाद्य व औषधि प्रशासन विभाग के सामने प्रस्तुत किए गए। इस निर्णय के खतरों से अवगत कराने दो बार संपूर्ण भारत में बंद का आयोजन किया गया। बावजूद सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंगी। 

ऑनलाइन औषधि बिक्री पर रोक नहीं लगाए जाने से नियमों को धता बताकर करोड़ों का व्यापार चल रहा है। इस कारोबार में औषधि बिक्री कानून की धज्जियां उड़ रही हैं। एमपीटी किट्स, सिल्डेनफील, टैडलफीन, कोडेन आदि औषधि डॉक्टरों की सलाह के बिना बेची जा रही हैं। पुराने अथवा बनावटी प्रीस्क्रिप्शन के आधार पर औषधि की खुलेआम बिक्री हो रही है। ऑनलाइन औषधि बिक्री से औषधि विक्रेताओं का व्यवसाय खतरे में आ गया है। इससे भी बड़ा खतरा गैरकानूनी औषधि का इस्तेमाल बढ़ने से सामाजिक स्वास्थ्य खतरे में आ गया है। इसका विरोध करने 27 सितंबर को रात 12 से 28 सितंबर को रात 12 बजे तक 24 घंटे बंद का ऐलान किए जाने की जानकारी कावडकर ने दी। प्रेस कांफ्रेंस में सचिव हेतल ठक्कर, हरीश गणेशानी, धनंजय जोशी, शैलेश गहलोत, विकास ओबेराय उपस्थित थे।