comScore

बच्चों ने उठाया नशामुक्ति का बीड़ा, पानठेलों में पहुंचकर नष्ट करवा रहे तंबाकू जन्य पदार्थ

बच्चों ने उठाया नशामुक्ति का बीड़ा, पानठेलों में पहुंचकर नष्ट करवा रहे तंबाकू जन्य पदार्थ

डिजिटल डेस्क, गड़चिरोली। बचपन सामाजिक जिम्मेदारियों से अनजान रहता है। बचपन में विद्यार्थी अपने स्कूली जीवन में व्यस्त रहते हैं। खेल-कूद और शिक्षा में उनका अधिक समय व्यतीत होता है।  लेकिन धानोरा तहसील के विभिन्न गांवों के मासूम विद्यार्थियों ने अपने परिवार और गांव के लोगों को नशामुक्त रखने का बीड़ा उठाया है।

इतना ही नहीं इन विद्यार्थियों ने स्कूल में तंबाकूजन्य पदार्थों की होली जलाकर पानठेलों पर दस्तक दी। इनका कहना है कि, हमारे माता-पिता का जीवन हमारे लिए कीमती है इसलिए हमारे माता-पिता के जीवन के साथ  खिलवाड़ न किया जाए।  मासूम बच्चों ने पानठेलाधारकों से यह अपील की है। मासूम विद्यार्थियों की इस पहल की चहुंओर सराहना की जा रही है। 

बता दें कि, गड़चिरोली जिले में मजदूरों की संख्या अधिक है। सर्वाधिक मजदूर ग्रामीण और दुर्गम क्षेत्र से है। ये मजदूर कार्यस्थल पर खर्रा, गुटखा और तंबाकू जैसी नशीले पदार्थों का सेवन करते हैं। इस कारण उनकी आमदनी की तुलना में नशीले पदार्थ पर खर्च अधिक  हो रहा है। साथ ही उन्हें विभिन्न बीमारियों का संक्रमण होता है। कई बार अपनी जान भी गंवानी पड़ती है। नशे के कारण किसी परिवार  के सदस्य की मृत्यु होती है तो, उनका संपूर्ण परिवार अनाथ हो जाता है।

वहीं उनके बच्चों की शिक्षा और परवरिश की गंभीर समस्या निर्माण होती है। इस संदर्भ में पिछले कुछ वर्ष से मुक्तिपथ संगठन द्वारा जिले की विभिन्न स्कूलों में जाकर विद्यार्थियों ने नशे से शरीर  पर होनेवाले दुष्परिणाम के संदर्भ में जानकारी दी। इसके बाद स्वयं और अपने परिवार को नशा मुक्त रखने के संदर्भ में मार्गदर्शन किया  जा रहा है।

अब तक जिले के अनेक स्कूलों के विद्यार्थियों  ने खुद को और स्कूल को नशामुक्त करने का संकल्प लिया है। ऐसे में धानोरा तहसील के कारवाफा गिरोला और मिचगांव जिला परिषद स्कूल के विद्यार्थियों ने स्कूल, परिवार और गांव को पूरी तरह नशामुक्त करने का बीड़ा उठाया है। संबंधित गांवों के विद्यार्थियों ने सर्वप्रथम स्कूल को नशामुक्त करने की शपथ ली।

इसके बाद गांव से जनजागरण रैली निकालकर लोगों से किसी भी तरह का नशा न करने की अपील की। विद्यार्थियों ने न केवल गांव के लोगों में नशा न करने के संदर्भ में जनजागरण किया बल्कि अपने परिवार के सदस्यों को भी शपथ दिलवाकर  नशा न करने की बात कही है। धानोरा तहसील के विभिन्न गांवों के विद्यार्थियों ने नशामुक्ति का बीड़ा उठाकर  प्रेरणादायी काम किया है। 

कमेंट करें
oVGDI