comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

वृद्धाश्रम में पॉजिटिव आए माता-पिता से बच्चे करने लगे किनारा

वृद्धाश्रम में पॉजिटिव आए माता-पिता से बच्चे करने लगे किनारा

डिजिटल डेस्क, नागपुर। जिस मां ने 9 माह कोख में रख कर संतान को जन्म दिया, जिस पिता ने खुद सूखी रोटी खाकर भविष्य संवारा, वही संतान वृद्ध माता-पिता को वृद्धाश्रम में  छोड़ देती है अब जब कोरोना ने माता-पिता को जकड़ा, तो उनके बच्चों ने मिलने से ही इनकार कर दिया, दवा-इलाज तो दूर की बात है। किसी ने कहा मेरे हॉल में डॉगी रहती है, मां को कैसे रखूं, तो किसी ने फोन ही काट दिया। अब लाचार मां-बाप के पास सिवा आंसू बहाने के कुछ नहीं बचा है। शहर के दिघोरी स्थित एक वृद्धाश्रम में रहने वाले 25 बुजुर्गों से 21 बुजुर्ग कोरोना की चपेट में हैं। 4 बुजुर्गों की मौत हो चुकी है और 4 बुजुर्गों शहर के शासकीय अस्पताल में भर्ती हैं। बाकी बुजुर्गो को क्वारेंटाइन सेंटर में रखा गया है। 

घर का हॉल तो डॉगी के लिए है 
वृद्धाश्रम की एक 70 वर्षीय वृद्धा कोरोना की चपेट में आईं। जब केयर टेकर ने फोन कर उनके बेटे को जानकारी दी, तो उसने कहा कि घर का हॉल तो डॉगी के लिए है। बेटी के बोर्ड एग्जाम है, हम उसे कहां रखें और फोन रख दिया। मां बार-बार बेटे से बात करने की जिद कर रही थी, लेकिन बेटे ने बात तक नहीं की। पांच वर्ष से वह वृद्धाश्रम में है। एक बार भी मिलने नहीं आया। मां का सोचना था कि बेेटा कोरोना की बात सुनकर दौड़ा चला आएगा, लेकिन उसके जवाब ने मां को जिंदा लाश बना कर रख दिया।

जिसने 6 बेटों को पाला, उसी के लिए घर में जगह नहीं
वृद्धाश्रम के एक अन्य बुजुर्ग की दास्तां भी झकझोरने वाली है। उनके 6 बेटे हैं। जब बेटों को जानकारी दी गई कि पिता कोरोना पॉजिटिव हैं, तो सबने चुप्पी साध ली। किसी ने हालत भी नहीं पूछी। केयर टेकर द्वारा दी गई सूचना का कोई उत्तर नहीं आया। इन 6 बेटों में सभी अच्छी पोस्ट पर हैं। कोई सरकारी और मल्टी नेशनल कंपनी में नौकरी में है, तो कोई बड़ा व्यापारी है, लेकिन पिता की खोज खबर लेने वाला कोई नहीं है।

हैलो मैडम, आपकी आवाज नहीं आ रही है
इसी तरह की दास्तां एक अन्य बुजुर्ग की है। जब उन्होंने अपने बेटे से बात करने की इच्छा जताई, तो उनके घर केयर टेकर ने फोन कर बुजुर्ग के पॉजिटिव होने की जानकारी दी, तो दूसरी तरफ से जवाब आया, हैलो मैडम आपकी आवाज नहीं आ रही है। फोन स्पीकर पर होने से पिता ने यह बात सुन ली और उनकी आंखों से आंसुओं की धारा बह निकली। केयर टेकर ने कहा आपको कुछ नहीं करवाना है, आपके पिता सिर्फ आपसे बात करना चाहते हैं। लेकिन बेटे का दिल नहीं पसीजा और फोन रख दिया। 

कमेंट करें
Wb8LF