दैनिक भास्कर हिंदी:  स्थगित परीक्षाओं के टाइम-टेबल को लेकर रिपोर्ट सौंपेगी कमेटी

April 6th, 2020

 डिजिटल डेस्क,  मुंबई।  कोरोना वायरस के संकट के मद्देनजर टाली गई प्रदेश के विश्वविद्यालय, महाविद्यालय और सीईटी परीक्षाओं के नियोजन और नियंत्रण करने के लिए समिति गठित की गई है। प्रदेश के उच्च व तकनीकी शिक्षा मंत्री उदय सामंत ने यह घोषणा की। सोमवार को सामंत ने सभी गैर कृषि विश्वविद्यालयों के कुलपति से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संवाद साधा।  सामंत ने कहा कि समिति कोरोना वायरस की स्थानीय स्तर की स्थिति का अध्ययन करके महाविद्यालयों की परीक्षा का टाइम टेबल, शैक्षणिक वर्ष के नियोजन के संबंध में रिपोर्ट सौंपेगी। इसके बाद इन परीक्षाओं के बारे में अंतिम फैसला लिया जाएगा। सामंत ने कहा कि समिति की रिपोर्ट के आधार पर राज्य में कोरोना वायरस का प्रभाव कम होने और तालाबंदी खत्म होने के बाद विश्वविद्यालय, महाविद्यालय और सीईटी सेल की स्थगित सभी परीक्षाएं संपन्न कराई जाएंगी। सभी परीक्षाओं के लिए नया टाइम टेबल घोषित किया जाएगा। इसलिए विद्यार्थियों और अभिभावकों को किसी भी अफवाहों पर विश्वास नहीं रखना चाहिए। सामंत ने कहा कि विभाग ने दो एक्शन प्लान तैयार किया है। इसमें पहला प्लान नियमित रूप से परीक्षा लेने के लिए बनाया गया है जबकि दूसरे प्लान के तहत अगर अभी और आपातकाल की स्थिति पैदा होती है तो क्या करना है,इस बारे में विचार होगा।सामंत ने कहा कि विभाग की तरफ से परीक्षा के संबंध में लिए गए फैसले के बारे में मंगलवार को राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी को अवगत कराया जाएगा। 

समिति में ये शामिल
सामंत ने कहा कि सभी परीक्षाओं के नियोजन और नियंत्रण के लिए बनाई गई समिति में मुंबई विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ.सुहास पेडणेकर, पुणे के सावित्रीबाई फुले विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. नितीन करमालकर, एसएनडीटी विश्वविद्यालय के विश्वविद्यालय के कुलपति शशिकला वंजारी, कोल्हापुर केशिवाजी विश्वविद्यालय के कुलपति देवानंद शिंदे, तकनीकी शिक्षा विभाग के निदेशक डॉ.अभय वाघ, उच्च तकनीकी शिक्षा विभाग के निदेशक धनराज माने को शामिल किया गया है।

विश्वविद्यालयों में शुरू करें जांच लैब
सामंत ने सभी विश्वविद्यालयों को कोरोना वायरस कीजांच के लिए विश्वविद्यालयों मेंमल्टिपर्पज लैब शुरू करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि लैब शुरू करने के लिए केंद्र सरकार, राज्य सरकार और स्वास्थ्य विभाग से सभी मंजूरी तत्काल दी जाएगी। सामंत ने कहा कि नांदेड़ के स्वामी रामानंद तीर्थ मराठवाड़ा विश्वविद्यालय में लैब शुरू किया गया है। 

एनएसएस विद्यार्थियों की मदद 
सामंत ने के लिए सरकार के स्वास्थ्य विभाग को सहयोग करने के लिए राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) विद्यार्थियों के मदद करने के संबंध में सभी विश्वविद्यालय विचार करें। सोलापुर विश्वविद्यालय के एनएसएस के 27 विद्यार्थियों ने मदद की शुरुआत कर दी है। सामंत ने कहा कि कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए मुंबई विश्वविद्यालय की ओर से ऑनलाइन समुपदेशन और मानसिक स्वास्थ्य सेवा की शुरुआत की गई है। इस दौरानसामंत ने राज्य के सभी विश्वविद्यालयों के कर्मचारियों और अधिकारियों से एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री सहायता निधि में देने का आह्वान किया। 


 

खबरें और भी हैं...