राज्यपाल कोश्यारी ने कहा: कृषि महर्षि भाउसाहब की दूरदृष्टि से देश को मिली एक नई दिशा

November 25th, 2021

डिजिटल डेस्क, अमरावती। डा. पंजाबराव देशमुख उर्फ भाऊसाहब केवल शिक्षा महर्षि ही नहीं थे बल्कि वह कृषि महर्षि भी थे। उन्होंने अपनी दूरदृष्टि से देश को एक नई दिशा देने का कार्य किया। उनके सपनों का देश निर्माण करने के लिए शिवाजी कृषि महाविद्यालय की तरफ से उस दृष्टि से प्रयास होने चाहिए और एक आदर्श कृषि महाविद्यालय के रूप में इस महाविद्यालय को काम करना चाहिए।  ऐसा प्रतिपादन महाराष्ट्र के राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी ने किया। वह बुधवार को श्री शिवाजी शिक्षण संस्था द्वारा संचालित शिवाजी कृषि महाविद्यालय की प्रशासकीय इमारत के उद्घाटन अवसर पर बोल रहे थे।

संस्था के अध्यक्ष हर्षवर्धन देशमुख के अध्यक्षता में हुए इस कार्यक्रम में प्रमुख अतिथि के रूप में सांसद नवनीत राणा, विधायक सुलभा खोडके, महापौर चेतन गावंडे उपस्थित थे। राज्यपाल कोश्यारी ने कहा कि देश को जब आजादी मिली उस समय की पीढ़ी पूर्ण रूप से देश के लिए और समाज के लिए समर्पित थी। इस अवसर पर सांसद नवनीत राणा, विधायक सुलभा खोडके, महापौर चेतन गावंडे ने भी अपने समयोचित विचार प्रकट कर संस्था के कार्यो की सराहना की। 

हर्षवर्धन देशमुख की अध्यक्षता में हुए इस कार्यक्रम में अपने प्रास्ताविक व स्वागत भाषण में देशमुख ने राज्यपाल से अनुरोध किया कि पापड में कृषि महाविद्यालय निर्माण की मान्यता मिले और डा. पंजाबराव देशमुख को केंद्र सरकार द्वारा भारतरत्न प्रदान करना चाहिए। कार्यक्रम का संचालन डा. किशोर फुले ने व सचिव शेषराव खाडे ने किया। संस्था के कोषाध्यक्ष दिलीप इंगोले ने आभार प्रदर्शन किया। कार्यक्रम में संस्था के उपाध्यक्ष नरेशचंद्र ठाकरे, डा. रामचंद्र शेलके, एड. गजानन पुंडकर, कार्यकारी परिषद के सदस्य हेमंत कालमेघ, सचिव शेषराव खाडे, प्राचार्य केशव गावंडे, कृषि महाविद्यालय के प्राचार्य डा. नंदकिशोर चिखले सहित संस्था के सदस्य, शिक्षक, कर्मचारी बड़ी संख्या में उपस्थित थे। 

पापड में कृषि महाविद्यालय जल्द होगा : शिक्षण महर्षि डा. पंजाबराव देशमुख की जन्म भूमि पापड ग्राम में कृषि महाविद्यालय की स्थापना करने बाबत जल्द से जल्द विचार किया जाएगा। इस संबंध में जल्द ही अच्छी खबर सुनाने के संकेत राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी ने संस्था के अध्यक्ष हर्षवर्धन देशमुख द्वारा अपने प्रास्ताविक में की गई मांग को देखते हुए दिए है। 
 
राज्यपाल देशमुख के परिजनों से मिले
अमरावती में शिवाजी कृषि महाविद्यालय के प्रशासकीय इमारत के उद्घाटन समारोह के बाद दोपहर में राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी शिक्षण महर्षी डा. पंजाबराव देशमुख के जन्मगांव पापड ग्राम पहुंचे। वहां उन्होंने भाऊसाहब के जन्मस्थल मकान का जायजा किया और उनके परिवार के सदस्य रजनी भीमराव देशमुख, कुसुमताई देशमुख, महेंद्र देशमुख, अनुप्रिता देशमुख, विद्यानंद देशमुख से चर्चा की। राज्यपाल ने भाऊसाहब के पुतले का पुष्पहार अर्पित कर अभिवादन किया। इस अवसर पर पापड की श्री शिवाजी शिक्षण संस्था की शाला को भेंट दी और संस्था की नियोजित कृषि महाविद्यालय की जगह का जायजा लिया। इस अवसर पर संस्था के अध्यक्ष हर्षवर्धन देशमुख, विधायक प्रताप अडसड़, जिलाधीश पवनीत कौर, संस्था के सचिव शेषराव खाडे, कोषाध्यक्ष दिलीप इंगोले आदि उपस्थित थे।