दैनिक भास्कर हिंदी: पत्नी की मदद करने वाले किशोर का बदमाश ने किया अपहरण

July 2nd, 2021

डिजिटल डेस्क,  नागपुर ।   गिट्टीखदान इलाके से 30 जून को एक अपराधी ने 17 वर्षीय किशोर का अपहरण कर लिया। किशोर को पुलिस ने यशोधरा नगर के कांजी हाउस परिसर से सकुशल छुड़ा लिया है। आरोपी किसन उइके को गिट्टीखदान पुलिस ने गिरफ्तार किया है। न्यायालय ने आरोपी को एक दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। आरोपी पर इसके पहले भी आपराधिक मामले दर्ज हैं, जिसमें दुष्कर्म और मारपीट जैसे मामले शामिल हैं। 

बीवी नहीं मिली तो तेरी खैर नहीं कहकर धमकाने लगा  
 पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सुरेंद्रगढ़ में रहने वाली चंदा कुलमेथे नामक महिला ने 30 जून को थाने में बेटा सुंदरम  के अपहरण की शिकायत की। चंदा ने अपहरण का आरोप किसन उइके पर लगाया था। किसन आपराधिक छवि का है। पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेकर आरोपी की खोजबीन शुरू की और उसे यशोधरा नगर थाना क्षेत्र के कांजी हाउस परिसर में धरदबोचा। सुंदरम ने पुलिस को बताया कि, किसन उसे अपनी बेटी के घर पर ले गया था। गौरतलब है कि, वहां से दूसरी जगह लेकर जाते समय किसन पकड़ा गया। किसन बार-बार धमकी दे रहा था कि, जब तक उसकी बीवी नहीं मिल जाती, तब तक उसे नहीं छोड़ेगा। बीवी नहीं मिली, तो तेरी खैर नहीं।

रवि नगर चौक में छोड़ा था आरोपी की पत्नी को 
खड़क पहाड़ हनुमान नगर, पिटेसुर बस्ती रेलवे क्रासिंग निवासी किसन उइके पहले चंदा कुलमेथे के घर के पास रहता था। चंदा की बस्ती में रहने वाली महिला चिंपा उइके पति की मौत के बाद किसन के साथ रहने लगी थी। गत 30 जून को दोनों के बीच विवाद होने पर चिंपा ने संुदरम को अपनी मोटरसाइकिल से रवि नगर चौक तक छोड़ने को कहा था। चिंपा को छोड़ने के बाद दोपहर में घर लौट आया। इस बीच किसन को इस बात की भनक लग गई। किसन ने सुंदरम से पूछताछ की। सुंदरम ने चिंपा को रवि नगर चौक में छोड़ने और उसके बाद वह बस में बैठकर जाने की जानकारी दी। यह सुनने के बाद  किसन ने सुंदरम को जबरन अपनी मोटरसाइकिल बैठाया और काफी देर तक उसे इधर से उधर घुमाता रहा। जब यह बात सुंदरम की मां को पता चली, तब उसने गिट्टीखदान थाने में शिकायत की। 

पुलिस की सावधानी से बच गई जान
चूंकि, किसन आपराधिक प्रवृत्ति का है, इसलिए सुंदरम की जान को खतरा बना हुआ था। पुलिस सावधानीपूर्वक कदम उठाया और पुलिस उपायुक्त विनीता साहू के मार्गदर्शन में गिट्टीखदान पुलिस के दस्ते ने कार्रवाई करते हुए 3 घंटे के भीतर किसन को  कांजी हाउस परिसर से धरदबोचा।  सुंदरम को उसके परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया है। गिट्टीखदान के वरिष्ठ थानेदार गजानन कल्याणकर के नेतृत्व में कार्रवाई की गई।
 

खबरें और भी हैं...