comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

ड्यूटी टाइम में मना रहे थे रिसोर्ट में पार्टी, मिला नोटिस, देना होगा जवाब

ड्यूटी टाइम में मना रहे थे रिसोर्ट में पार्टी, मिला नोटिस, देना होगा जवाब

डिजिटल डेस्क, नागपुर( मौदा)।  मौदा तहसील के ग्रामसेवक कार्यालयीन समय में रामटेक के एक रिसोर्ट में पार्टी मनानेे चले गए थे। इस मामले की सूचना मिलने के बाद अब बीडीओ ने कारण बताओ नोटिस देकर तीन दिन में जवाब मांगा गया है। बताया जा रहा हैै कि,   बिना किसी पूर्व सूचना 25 ग्रामसेवक व 4 अधिकारी मुख्यालय छोड़कर रामटेक के एक रिसोर्ट में जश्न मनाने चले गए थे। इससे महाराष्ट्र जिला परिषद सेवा  (वर्तणूक) नियम-1967 के नियम 3 के तहत अनुशासनहीनता की कार्रवाई का पात्र ठहराते हुए 3 दिन में कारण बताओ नोटिस वरना कार्रवाई के निर्देश दिए गए।  ग्रामसेवक व अधिकारियों की पार्टी की जानकारी मिलने के बाद खंडाला के उपसरपंच संकेत झाडे, नेरला के उपसरपंच मनोज कडू, निसतखेडा के उपसरपंच राकेश चव्हान व नेरला ग्रापं सदस्य रोशन मेश्राम आदि संबधित रिसोर्ट पहुंचे। उस समय मौदा पंचायत समिति के बहुतांश कर्मचारी वर्ग व कुछ अधिकारी रिसोर्ट के पार्टी  में व्यस्त थे। 

62 ग्रापं में 31 ग्रामसेवक,7 ग्रामविकास अधिकारी
मौदा पंचायत समिति अंतर्गत 62 ग्रामपंचायत हैं। इसमें  31 ग्रामसेवक व 7 ग्रामविकास अधिकारी कार्यरत हैं। इनमें से भी 4 ग्रामसेवक विविध कारणाें से छुट्‌टी पर होने की जानकारी मिली है।

कार्रवाई नहीं हुई तो आंदोलन.... 
तहसील के ग्राम सेवकों को शनिवार व रविवार इस प्रकार दो दिन छुट्टी मिलती है। छुट्‌टी के दिन पार्टी करने में कोई परेशानी नहीं है, लेकिन नागरिकों का काम छोड़कर कार्यालयीन समय में पार्टी करने पहुंचे थे। फोन करने पर ‘मैं बाहर हूं कल देखेंगे’ का जबाव दे रहे थे।इन पर सख्त कार्रवाई व मुख्यालय में ही रहने का आदेश दिया जाए, अन्यथा पंचायत समिति के सामने तीव्र आंदोलन करने की चेतावनी खंडाला के उपसरपंच संकेत झाडे, नेरला  ग्रापं. सदस्य रोशन मेश्राम ने दी। 

ई-मेल से भेजी मुख्यमंत्री को शिकायत
मामले की शिकायत नेरला के  ग्रामपंचायत सदस्य रोशन मेश्राम द्वारा मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को ई-मेल भेजकर की गई है।

दिया गया नोटिस
तबादला हुए ग्रामसेवकों की विदाई और उनकी जगह पदभार संभालने वालों का सत्कार समारोह रामटेक में आयोजित किया गया था। पंचायत समिति के 24 ग्रामसेवक और 4 विस्तार अधिकारी कार्यालयीन कालावधि में कार्यक्रम में शामिल हुए। उन्हें कारण बताओ नोटिस देकर 3 दिन में स्पष्टीकरण मांगा गया है।  -दयाराम राठोड़,  गटविकास अधिकारी, पंचायत समिति, मौदा

कमेंट करें
9M2vN