comScore

869 पोलिंग बूथों में 1798 महिलाएं निभाऐंगी पी-टू पी-थ्री की भूमिका

November 21st, 2018 15:44 IST
869 पोलिंग बूथों में 1798 महिलाएं निभाऐंगी पी-टू पी-थ्री की भूमिका

डिजिटल डेस्क, सतना। चुनाव कार्य जितना ही महत्वपूर्ण और आवश्यक है, इसमें काम करने से कर्मचारी उतना ही अधिक दूर भागते हैं। चुनाव ड्यूटी से बचने के लिए तरह-तरह के नुस्खे खोजते रहते हैं। निर्वाचन आयोग ने एसा तरीका निकाला की अब शायद ही पुरूष कर्मियों को कोई बहाना मिले। नवाचार करते हुए पहली बार चुनाव कार्य में इतनी बड़ी संख्या में महिलाओं की भूमिका तय की गई है। जिले की सात विधानसभाओं की 869 पोलिंग बूथों में 1798 महिला मतदानकर्मी तैनात की जाएंगी। पिंक बूथों में जिनकी ड्यूटी वह अलग हैं। जब महिलाएं मतदान कार्य में पुरूषों के बराबर कंधे से कंधा मिलाकर काम करेंगी। इसकी एक बड़ी वजह यह भी है कि पिछले विधानसभा चुनाव में 1521 मतदान केंद्र बनाए गए थे जबकि इस बार 1978 मतदान केंद्र हो गए हैं। बढ़े मतदान केंद्रों के अनुपात में कर्मचारियों की संख्या नहीं बढ़ी। लिहाजा मतदान कार्य के लिए महिलाकर्मियों की ड्यूटी लगाई है। बड़ी बात यह कि जिन महिलाओं की ड्यूटी लगी वह खुशी-खुशी इस चुनौती को सामना करने के लिए तैयार हैं।

सुरक्षा रखा गया पूरी तरह से ध्यान
जिले के सातों विधानसभा के 869 मतदान केंद्रों में लगाई गई महिलाओं की सुरक्षा का पूरा इंतजाम किया गया है। मतदान केंद्र में ठहरने की पूरी व्यवस्था रहेगी। स्थानीय जानकारी के लिए महिला मतदानकर्मियों के साथ 24 घंटे आगनबाड़ी कार्यकर्ता रहेंगी। जिन मतदान केंद्रों में महिलाकर्मी तैनात रहेंगी वहां पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम भी हैं।

पी टू और पी थ्री का करेंगी कार्य
महिला मतदानकर्मियों को मतदान केंद्र में पी टू और पी थ्री के कार्य का संपादन करेंगी। एक पोलिंग बूथ में पीठासीन अधिकारी समेत चार सदस्यीय मतदान दल रहता है। चिन्हित 869 मतदान केंद्रों में दो-दो महिलाएं रहेंगी। मतदान केंद्रों में तैनाती से पहले बकायदा कई स्तरों में ट्रेनिंग दी गई है। जहां पर उनके सवालों के जवाब भी दिए गए। प्रशिक्षण केंद्रों में 30 मिनट के वीडियों और हैंडजोन के जरिए ईव्हीएम से जुड़ी सभी तकनीकी जानकारी दी गई। मशीनों को सेट करना सिखाया गया है।

कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर से लगाई गई ड्यूटी  —-
जिले के 869 मतदान केंद्रों में महिला मतदानकर्मियों के चयन का कार्य पूरी  तरह से कम्प्यूटर के जरिए किया गया है। सबसे पहले जिले के सभी विभागों में शासकीय कार्यालय में पदस्थ चार से अधिक महिलाओं की सूची को कम्प्यूटर में फीड किया गया। इसके बाद सॉफ्टवेयर के जरिए ड्यूटी के लिए 1798 महिलाओं का चयन किया गया। इसके अलावा 10 फीसदी महिलाओं को रिर्जव रखा गया है ताकि जरूरत आने पर इन्हे तैनात किया जा सके।

इनका कहना है
निर्वाचन आयोग के निर्देश पर जिले के सभी विधानसभा के पोलिंग बूथों में  महिला मतदान कर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है। मतदान केंद्र में सभी तरह के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। महिला मतदान कर्मियों के साथ आगनबाड़ी कार्यकर्ता भी मतदान केंद्र में रहेंगी। -राहुल जैन, कलेक्टर

कमेंट करें
QhYzw