दैनिक भास्कर हिंदी: ट्रेफिक को लेकर लोगों से सुझाव लेगी राज्य सरकार, शहर यातायात नीति का प्रारूप तैयार

November 5th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर। राज्य सरकार ने शहर यातायात नीति का प्रारूप तैयार कर लिया है। नीति के संबंध में लोगों से उनके सुझाव व शिकायतें मंगाई गई हैं। नई यातायात नीति का लाभ राज्य को मिलेगा। शहर में तीन दिवसीय भारतीय शहरी यातायात आधारित परिषद में विविध विषयों पर चर्चा की गई है। राज्य के सचिव नितीन करीर ने रविवार को यह जानकारी दी। केंद्रीय गृहनिर्माण  व नगर विकास मंत्रालय, राज्य सरकार व महामेट्रो के संयुक्त योगदान से चिटणवीस सेंटर सिविल लाइन में तीन दिवसीय परिषद का आयोजन किया गया। इसी परिषद के समापन कार्यक्रम में श्री करीर बोल रहे थे। महापौर नंदा जिचकार, केंद्रीय गृह निर्माण  व नगर विकास विभाग के सचिव संजय मूर्ति, महामेट्रो के व्यवस्थापक संचालक बृजेश दीक्षित,राज्यसभा सदस्य विकास महात्मे मंच पर प्रमुखता से उपस्थित थे। 

प्रदूषण मुक्त यातायात पर जोर
श्री करीर ने कहा कि जब तक सार्वजनिक उपयोग के वाहनों व सार्वजनिक उपयोग रहित वाहनों के यातायात का वर्गीकरण नहीं होगा, तब तक सार्वजनिक यातायात सेवा लाभकारी नहीं होगी। फुटपाथ, साइकिल ट्रैक व सड़कों का निर्माण योजनाबद्ध तरीके से होना चाहिए। बस ट्रैफिक ट्रांजिट पर जोर देने की आवश्यकता है। केंद्र के नगर विकास विभाग के सचिव संजय मूर्ति ने कहा कि देश में 600 किमी मेट्रोमार्ग का नियोजन किया गया है। मणिपुर जैसे राज्य को शहर यातायात के लिए पुरस्कार मिलना उल्लेखनीय है। 12वीं अर्बन मोबिलिटी परिषद लखनऊ में होगी। डॉ. महात्मे ने कहा कि सुविधाओं के अभाव में मेट्रो का इस्तेमाल कई बार संभव नहीं हो पाता है। समय की बचत आवश्यक है। साइकिल चलाने की सीमा होती है। इसलिए ग्रीन यातायात सेवा समय की आश्यकता है। महापौर नंदा जिचकार ने प्रदूषण मुक्त यातायात की आवश्यकता पर जोर दिया। महामेट्रो के एमडी बृजेश दीक्षित ने कहा कि यातायात संबंधित नीतिगत निर्णय के लिए नागपुर में हुई परिषद मील का पत्थर साबित होगी। इस अवसर पर उपस्थित मान्यवरों ने भी अपने-अपने विचार व्यक्त किए।
 

खबरें और भी हैं...