comScore

प्रापर्टी हथियाने जीवित महिला को मृत बताया, आधा दर्जन के खिलाफ प्रकरण दर्ज

प्रापर्टी हथियाने जीवित महिला को मृत बताया, आधा दर्जन के खिलाफ प्रकरण दर्ज

डिजिटल डेस्क, नागपुर। पैतृक संपत्ति से बेदखल करने के लिए जीवित महिला को उसके ही रिश्तेदारों ने मृत घोषित कर दिया। गणेशपेठ थाने में आधा दर्जन आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है। पीड़िता लक्ष्मी नारायण शाहू (48) त्रिमूर्ति नगर निवासी है। आरोपियों में रिश्तेदार सत्यनारायण रामलाल शाहू, राजू ताराचंद शाहू, राजेश ताराचंद शाहू के अलावा  मनीष सत्यनारायण शाहू, शफीक रहमान मोहम्मद तैयब खान और पांडुरंग रामाजी नलबांगे बजेरिया निवासी हैं।

 दर्ज शिकायत में लक्ष्मी ने बताया कि, उसके पिता का बजेरिया परदेशीपुरा में पैतृक मकान है। पिता को पांच संतान हैं और उनमें से दो को संतान नहीं है। 10 सितंबर 2007 से 20 जुलाई 2020 के बीच आरोपियों ने लक्ष्मी को मृत दर्शाया और कई फर्जी दस्तावेज बनाए। धीरे-धीरे सत्यनारायण, राजू और राजेश ने अन्य आरोपियों की मदद से उसके हिस्से की संपत्ति अपने नाम कर ली। आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है।

जहर गटकने से महिला की मौत

जहर गटकने से महिला की मौत हो गई। घटना को लेकर संदेह भी व्यक्त किया जा रहा है। एमआईडीसी थाने में मंगलवार को आकस्मिक मृत्यु का प्रकरण दर्ज किया गया। गजानन नगर निवासी शिखा मौर्य (26) की लगभग तीन वर्ष पूर्व धनराज (31) से शादी हुई थी। धनराज बंगलुरु में किसी कंपनी में अभियंता है। दर्ज शिकायत में धनराज ने कहा है कि, शिखा तीखे स्वभाव की थी। आए दिन मामूली बातों को लेकर उनमें विवाद होते रहता था। ऐसे ही किसी बात लेकर तैश में सोमवार को शिखा ने जहरीली दवा का सेवन कर लिया। घर की एक महिला सदस्य ने उस समय उसे देख लिया था। थोड़ी ही देर में शिखा को उल्टियां होने लगी। तत्काल उसे निजी अस्पताल ले जाया गया जहां उपचार के दौरान उसने दम तोड़ दिया। शिखा का मायका छत्तीसगढ़ के रायपुर में है। वहां सूचना दी गई है। जांच जारी है।

कमेंट करें
8q1cY