दैनिक भास्कर हिंदी: लखनऊ में भारी बारिश : एक दिन में गिरी तीन बिल्डिंग, बच्ची समेत 5 की मौत

August 3rd, 2018

हाईलाइट

  • लखनऊ शहर में एक दिन के अंदर तीन बड़ी बिल्डिंग धराशाही हो गईं।
  • इन हादसों में अब तक एक मासूम बच्ची समेत पांच लोगों के मरने की खबर सामने आ रही है।
  • दर्जनभर से अधिक लोग घायल भी हुए हैं, जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। भारी बारिश और तूफान के कारण देशभर में पुरानी-जर्जर और निर्माणाधीन बिल्डिंग्स के गिरने का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस बार उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से भी ऐसे ही तीन मामले सामने आए। लखनऊ शहर में एक दिन के अंदर तीन बड़ी बिल्डिंग धराशाही हो गईं। इन हादसों में अब तक एक मासूम बच्ची समेत पांच लोगों के मरने की खबर सामने आ रही है। दर्जनभर से अधिक लोग घायल भी हुए हैं, जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

जानकारी के अनुसार राजधानी की तीन बिल्डिंग गणेश नगर, अमीनाबाद और हुसैनगंज में बारी-बारी से बारिश के चलते गिर गईं। बताया जा रहा है कि इमारतें जर्जर हालत में थी और बीते कई दिनों से हो रही बारिश के चलते और कमजोर हो गई थीं। पुलिस इस पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है। मृतकों को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया गया है।

 

 

पहली घटना गणेशगंज से सामने आई। यहां धराशाही हुई तीन मंजिला बिल्डिंग में मालिक सर्वेश मिश्रा की तीन बेटियों, एक बेटे और दंपती और दो किराएदार समेत कुल 8 लोग रहते थे। हादसे के दौरान मां सरिता मिश्रा और 10 साल की बेटी आशी ही घर में मौजूद थे और मलबे में दबकर आशी की मौत हो गई। मां को इलाज के लिए बलरामपुर अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

 

 

अमीनाबाद में भी बारिश के चलते एक पुरानी इमारत भरभराकर गिर पड़ी। इस हादसे में एक युवक की मौके पर मौत हो गई, जबकि दूसरे की ट्रॉमा सेंटर ले जाते वक्त जान चली गई। वहीं हुसैनगंज में भी इमारत गिरने से मलबे में दबकर दो की मौत हो गई। 

 

 

वहीं हुसैनगंज में भी एक इमारत बीते कई दिनों से हो रही बारिश की वजह से गिर गई, जिसमें दबकर दो युवकों की मौत हो गई।

 

 

मृतकों के परिजनों को मिलेगा 4-4 लाख का मुआवजा
बीजेपी सरकार में मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने इन हादसों को लेकर मृतकों को चार-चार लाख के मुआवजे का ऐलान किया। उन्होंने कहा, 'हमें ऐसी नीतियां बनानी होंगी जिससे भविष्य में ऐसे हादसे न हों।' रीता ने कहा कि मृतकों को चार-चार लाख और घायलों को 50,000 रुपये का मुआवजा दिया जाएगा। घायलों का इलाज भी मुफ्त में किया जाएगा।