दैनिक भास्कर हिंदी: गुरजी में करंट से एक दूसरे को बचाने में तीन सगे भाईयों की मौत- गांव में पसरा मातम

October 5th, 2018

डिजिटल डेस्क, कटनी। रीठी थाना क्षेत्र के ग्राम गुरजी में करंट से तीन सगे भाईयों की मौत हो गई। घटना गुरुवार शाम चार बजे की बताई गई है। मृतकों में लखन पटेल (55), रामसुजान (50) एवं राजकुमार पटेल (45) पिता हुकुम सिंह हैं। घटना के संबंध में मिली जानकारी के अनुसार सूख रही धान की फसल में सिंचाई करने विद्युत पम्प फिट किया और स्टार्टर लगा रहे थे उसी दौरान करंट लगने से तीनों की मौत हो गई। जब लोग पहुंंचे तो तीनों मृत पड़े थे। पुलिस ने सूचना मिलने पर तीनों के शव पोस्टमार्टम के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रीठी भेजे। रीठी थाना क्षेत्र के गुरजी गांव में एक साथ तीन सगे भाईयों की मौत से पूरे गांव में मातमी सन्नाटा पसरा है। गुरुवार की शाम किसी घर में चूल्हा नहीं जला। लम्बे समय से बारिश नहीं होने से धान की सूख रही फसलों को बचाने सिंचाई  के लिए विद्युत पम्प का स्टार्टर फिट करते समय एक दूसरे को बचाने में तीनों भाई मौत के आगोश में समा गए। जब लोग खेत पहुंचे तब तीनों की लाशें पड़ी थीं। यहां का नजारा जिसने भी देखा हर किसी की आंख नम हो गई।  बताया गया है कि सबसे बड़े भाई लखन पटेल स्टार्टर का प्लग लगा रहा था, उसी दौरान करंट लगने से वह उसी में चिपक कर रह गया। लखन को बचाने का रामसुजान ने प्रयास किया तो वह भी चिपक गया। दोनों को बचाने के प्रयास में राजकुमार की भी मौत हो गई। ग्रामीणों ने 108 एम्बुलेंस को सूचना दी और इस उम्मीद के साथ तत्काल सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रीठी ले गए कि शायद जान बच जाए लेकिन डॉक्टरों ने तीनों को मृत घोषित कर दिया।

अस्पताल में उमड़ी भीड़
ग्रामीणों को जैसे ही तीन सगे भाईयों की मौत की सूचना मिली रीठी अस्पताल में गुरजी सहित आसपास के गांवों की भीड़ जमा हो गई। सूचना मिलते ही बहोरीबंद विधायक सौरभ सिंह भी रीठी अस्पताल पहुंचे और मृतकों के परिजनों को सांत्वना दी। शाम हो जाने के कारण तीनों ्रशवों का पोस्टमार्टम शुक्रवार को होगा।

कमजोर कंधों पर गृहस्थी का बोझ
बताया गया है तीन भाईयों की संतानों की उम्र अधिक नहीं है। सबसे बड़े भाई लखन पटेल (55) एवं छोटे भाई राजकुमार (45)के एक-एक पुत्र हैं लेकिन किसी की अभी शादी नहीं हुई है। जबकि दूसरे नम्बर के रामसुजान (50) की तीन संतानें हैं।