मानव तस्करी : नागपुर से अपहृत तीन किशोरियां मध्यप्रदेश में मिली

December 4th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। शहर से अपहृत तीन किशोरियां मध्यप्रदेश में मिली हैं। बर्डी, मानकापुर और कलमना थाना क्षेत्र में हुईं इन वारदातों में किशोरियों को खरीदने-बेचने की आशंका है। किशोरियों से जबरन शादी की गई है। मानव तस्करी से जुड़े इन मामलों का क्राइम ब्रांच की टीम ने पर्दाफाश कर संबंधित थानों को प्रकरण सौंप दिए हैं।

फरवरी, अगस्त, सितंबर में किया था अगवा : मानकापुर थाने में 24 सितंबर 2021,कलमना थाने में 31 अगस्त 2021 को और बर्डी थाने में 28 फरवरी 2021 को तीन किशोरियाें का अपहरण होने के प्रकरण दर्ज किए गए थे। किशोरियों की आयु कम होने से उच्च न्यायालय के दिशा-निर्देश के तहत प्रकरणों को अपहरण की श्रेणी में दर्ज किया गया था। इन प्रकरणों को मानव तस्करी से भी जोड़कर देखा जा रहा था। जांच के दौरान क्राइम ब्रांच ने अपहृत और संदिग्ध आरोपियों की लोकेशन खंगाली, जिसमें मानकापुर क्षेत्र से अगवा किशोरी मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले के बोडा थाना सीमा में मिली है। इस मामले में आरोपी राधेश्याम राजपूत को गिरफ्तार कर नागपुर लाया गया है। उसने अगवा किशोरी से शादी की है। आराेपी को मानकापुर पुलिस के सुपुर्द किया गया है। 

बर्डी क्षेत्र से भी 28 फरवरी 2021 को किशोरी गायब हुई थी। जांच के दौरान वह भी मध्यप्रदेश के देवास में उदय नगर थाने की सीमा में मिली है। आरोपी सत्यम श्रीवास ने उससे शादी की थी। 15 अक्टूबर 2021 को पुलिस ने आरोपी के घर पर छापामार कार्रवाई कर उसे गिरफ्तार किया। उसके कब्जे से अगवा किशोरी को मुक्त कराया गया है। यह प्रकरण बर्डी पुलिस को सौंप दिया गया है।
तीन में से एक किशोरी एक बच्चे की मां

तीसरी वारदात में कलमना थाना क्षेत्र से अगवा किशोरी गुजरात के सूरत के वडोदरा थाने की सीमा में मिली है। यह किशोरी 31 अगस्त 2019 को गायब हुई थी। आरोपी अमित सर्वेश चव्हाण ने उससे शादी की। किशोरी एक बच्चे की मां है। 14 नवंबर 2021 को पुलिस ने आरोपी के कब्जे से किशोरी और उसके बच्चे को मुक्त कराया। आरोपी को गिरफ्तार कर कलमना पुलिस को सौंप दिया गया है।