comScore

आम जनता को सफर की इजाजत के लिए रोक दी ट्रेन

आम जनता को सफर की इजाजत के लिए रोक दी ट्रेन

डिजिटल डेस्क, मुंबई। महानगर से सटे नालासोपारा इलाके में बुधवार सुबह सैकड़ों लोगों ने पटरियों पर उतरकर रेल सेवा ठप कर दी। लोगों की मांग थी कि उन जैसे सामान्य यात्रियों को भी रेलवे में सफर करने की इजाजत दे दी जाए। जीआरपी ने मामले में रेलवे की संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के आरोप में अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया है।  दरअसल मुंबई में ऑफिस खोलने की इजाजत मिल गई है लेकिन आम यात्रियों को लोकल ट्रेनों और सरकारी बसों में सफर की इजाजत नहीं है। लोकल ट्रेनों, एसटी बसों  में फिलहाल अति आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को ही राज्य सरकार द्वारा जारी क्यूआर कोड वाले पहचानपत्र को देखकर सफर की इजाजत दी जा रही है। दूसरी तरफ मालिकों द्वारा कर्मचारियों पर ऑफिस पहुंचने का दबाव बनाया जा रहा है और नौकरी से निकालने की धमकी दी जा रही है।

नालासोपारा बस अड्डे से रोजाना राज्य परिवहन की करीब 100 बसें चलाई जा रहीं थी लेकिन यहां भी पहचान पत्र देखकर ही लोगों को बसों में बैठने की इजाजत दी जा रही है। इससे आम लोग नाराज हो गए और हंगामा शुरू कर दिया। इसके बाद बस सेवाएं रोक दी गईं।  नालासोपारा में रहने वाली पूजा यादव ने बताया की वे भी रोजाना बस से ही मुंबई स्थित अपने ऑफिस जाती थी। बुधवार सुबह भी वो तैयार होकर बस अड्डे पहुंची लेकिन वहां कोई बस नहीं थी। उनके साथ यहां सैकड़ो की संख्या में लोग थे।  पूजा ने बताया कि काफी समय तक नाराज लोग बस अड्डे पर विरोध प्रदर्शन करते रहे और फिर नालासोपारा रेलवे स्टेशन चले गए और वहां  पटरी पर उतरकर रेल रोक दी। पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुमित ठाकुर ने बताया बुधवार सुबह साढ़े 8 बजे के करीब 200 लोग नालासोपारा स्टेशन पर आ गए और पटरी पर उतर गए। लोगों ने करीब 20 मिनट ट्रेन रोके रखी इसके बाद आरपीएफ और जीआरपी के अधिकारियों ने समझा बुझाकर लोगों को वहां से हटाया। ठाकुर ने बताया कि फिलहाल राज्य सरकार के निर्देश के मुताबिक अत्यावश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को ही लोकल में सफर की इजाजत दी जा रही है। 

भीड़ ज्यादा जुटने पर पुलिस के कहने से बंद किया एसटी स्टैंड
महाराष्ट्र राज्य मार्ग परिवहन महामंडल ने नालासोपारा के एसटी बस स्टैंड बंद करने को लेकर सफाई दी है। एसटी महामंडल ने कहा कि मुंबई में निजी कार्यालय में जाने वाले यात्रियों की अचानक भीड़ जमा होने के कारण पुलिस की सूचना पर बस स्टैंड को बंद किया गया। इसके बाद सुबह 10.30 बजे एसटी बस सेवा को बहाल कर दिया गया। एसटी महामंडल के मुताबिक नालासोपारा एसटी बस स्टैंड पर अचानक तीन से चार हजार यात्रियों की भीड़ जमा हो गई। इसमें से अधिकांश यात्री मुंबई में निजी कार्यालयों में काम पर जाने वाले थे। ये यात्री अत्यावश्यक सेवा के लिए चलाई जाने वाली एसटी की बसों में सफर की अनुमति देने की मांग कर रहे थे। इस पर एसटी प्रशासन ने कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का पालन करते हुए इतने यात्रियों के लिए बस सेवा उपलब्ध कराना संभव नहीं है पर गुस्साए यात्री एसटी प्रशासन की बातें सुनने को तैयार नहीं थे। 

कमेंट करें
zI8c1