दैनिक भास्कर हिंदी: भीमा कोरेगांव हिंसा : तीन नाबालिग समेत बारह युवक गिरफ्तार

January 9th, 2018

डिजिटल डेस्क, पुणे। भीमा कोरेगांव दंगा प्रकरण में पुलिस ने तीन नाबालिग समेत बारह युवकों को गिरफ्तार किया है, जिसमें से नौ युवकों को मंगलवार को न्यायालय ने दो दिन की पुलिस हिरासत में रखने का आदेश दिया है। गौरतलब है कि 1 जनवरी को पुणे के भीमा कोरगांव में दो समाजों के गुटों में घमासान हुआ। इस दौरान तोड़फोड़, पथराव, आगजनी इन घटनाओं को अंजाम दिया गया। इसमें एक युवक की मौत हो गई थी। इस घटना को लेकर शिक्रापुर पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया था।

इस घटना के चलते 2 जनवरी को महाराष्ट्र बंद रखा गया था, जिस दौरान कई जिलों में हिंसक घटनाएं हुई। इसकी पृष्ठभूमि पर मंगलवार को पुलिस ने दोनों गुटों के कुल बारह युवकों को धरदबोचा, जिनमें तीन नाबालिग लड़के शामिल हैं। नाबालिग लड़कों को बाल न्यायालय के समक्ष पेश किया गया वहीं अन्य नौ युवकों को प्रथम वर्ग न्यायिक दंडाधिकारी न्यायालय में पेश किया गया जहां सभी को दो दिन ही पुलिस हिरासत में भेजने का आदेश दिया गया। सभी आरोपी कोरेगांव भीमा, सणसवाड़ी तथा कोंढापुरी गांव के निवासी हैं और दोनों समाज के हैं।

घटना के अति संवेदनशील होने के चलते इन युवकों के नाम गुप्त रखे गए हैं। घटनास्थल से पुलिस को मिले सीसीटीवी फुटेज के जरिए इन आरोपियों की पहचान होगी। मामले की जांच की जा रही है।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में 1 जनवरी को यह हिंसा भड़की थी। इस दौरान कोरेगांव भीमा में 1 जनवरी 1818 को पेशवा बाजीराव पर ब्रिटिश सैनिकों की जीत की 200वीं सालगिरह मनाई जा रही थी। दलित नेता 200 साल पुरानी इस परंपरा को 1 जनवरी के दिन मराठाओं पर महार दलितों की बड़ी जीत के जश्न के रूप में मनाते हैं। बताया जाता है कि 1 जनवरी 1818 को ब्रिटिश फ़ौज की तरफ से 800 महार दलितों ने करीब 28 हजार से अधिक मराठाओं को जंग में हराया था।