दैनिक भास्कर हिंदी: सराफा दुकान से दिनदहाड़े जेवरात उड़ाने वाले दो आरोपी मप्र के कटनी से गिरफ्तार

July 7th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर । जरीपटका क्षेत्र में दिनदहाड़े अवनि ज्वेलर्स में हुई लूट का पर्दाफाश हो गया है। पुलिस ने  आरोपी वीरेंद्रकुमार यादव (26), ग्राम गोतनी, जिला प्रतापगढ़ उ. प्र. और दीपक त्रिपाठी (24), गंगानगर, प्रयागराज, उ. प्र. निवासी को कटनी पुलिस ने गिरफ्तार किया। आरोपियों को नागपुर पुलिस के हवाले कर दिया गया है। आरोपियों से 1 किलो चांदी , 15 ग्राम सोना, एक पिस्टल, 3 जिंदा कारतूस,  38 हजार रुपए नकद, 4 मोबाइल, पल्सर और अपाचे नामक बाइक सहित 2 लाख 98 हजार रुपए का माल जब्त किया गया है। दोनों आरोपी कटनी में पुलिस वाहन से बाइक टकराने के कारण जख्मी हो गए हैं। इस कार्रवाई में फुटेज व अन्य तकनीक बेहद मददगार साबित हुई है। यह जानकारी पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार ने मंगलवार को सिविल लाइंस स्थित पुलिस जिमखाना में आयोजित पत्र परिषद में दी।

फुटेज ने पहुंचाया आरोपियों तक
आयुक्त ने बताया कि, इस कार्य में जबलपुर अपराध शाखा पुलिस टीम, कटनी पुलिस का सहयोग मिला। इस मामले में वंदना  नामक संदिग्ध महिला की भूमिका की जांच की जा रही है। घटना से कुछ दिन महिला का दोस्त कृष्णा नागपुर आया था। दोनों 1 जुलाई को कृष्णा अवनि ज्वेलर्स में पति-पत्नी के रूप में नथनी खरीदने गए थे। पश्चात दोनों बाराखोली स्थित एटीएम में गए, जहां वंदना, कृष्णा को 5 हजार रुपए निकालकर देते हुए फुटेज मिले हैं। छानबीन कर पुलिस वंदना तक पहुंची, तो पता चला आरोपी मध्यप्रदेश जा चुके हैं। महिला के पिता सेना के सेवानिवृत्त जवान हैं। वह नागपुर में नौकरी कर रहे हैं।

छपारा के प्रेम लॉज में रुके आरोपी 
 लूटपाट के बाद आरोपी बाइक से खवासा होते हुए छपारा, म.प्र. स्थित प्रेम लॉज में पहुंचे और वहां करीब दो घंटे रुके थे। आरोपियों की खोज में पुलिस ने करीब 82 जगह के सीसीटीवी फुटेज खंगाले थे। इस मामले में खवासा बॉर्डर पर पुलिस की लापरवाही सामने आई है। आरोपी खवासा बॉर्डर पर आरटीपीसीआर जांच के लिए रोकने वाले पुलिसकर्मी को फोन पर बतियाते देख आगे निकल गए और छपारा पहुंच गए थे। कटनी पुलिस की टीम पीछा करते हुए लॉज में पहुंची थी। पश्चात कटनी परिसर में आरोपियों की बाइक पुलिस वाहन से टकराने पर पूछताछ में दोनों आरोपी पकड़े गए।  दो आरोपी कटनी के जंगल में बाइक से फरार हो गए।

दुर्ग से चुराई थी दोनों बाइक  
लूटपाट के लिए आरोपी दोनों बाइक छग के दुर्ग से चुराकर लाए  थे। आरोपियों ने लूट के रुपए व गहने स्टील के डिब्बे में रखने का संदेश भी महिला को भेजा था। फरार आरोपियों की तलाश में नागपुर की क्राइम ब्रांच की टीम जुटी है। पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार का कहना है कि, आरोपी उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ और इलाहाबाद भाग जाते तो पकड़ना थोड़ा मुश्किल हो जाता। 

पुलिस टीम को 1 लाख रुपए रिवार्ड 
उन्होंने उल्लेखनीय कार्य करने वाली पुलिस टीम को 1 लाख रुपए रिवार्ड देने की घोषणा की है। इस कार्य में शहर पुलिस परिमंडल-2 की पुलिस उपायुक्त विनीता साहू, अपराध शाखा पुलिस विभाग के उपायुक्त गजानन राजमाने, पुलिस परिमंडल-5 के उपायुक्त नीलोत्पल ने भी अहम भूमिका निभाई। फरार आरोपियों की तलाश में अपराध शाखा का एक दस्ता जुटा है। फरार आरोपियों की तलाश में क्राइम ब्रांच के एपीआई मयूर चौरसिया, नायक सिपाही नरेंद्र ठाकुर, रवि अहीर, प्रवीण रोड़े, सिपाही सागर ठाकरे, कुनाल मसराम व चालक सुधीर पवार आदि जुटे हैं।
 

खबरें और भी हैं...