दैनिक भास्कर हिंदी: एंटीलिया केस में दो और गिरफ्तार, साजिश में थे शामिल  

June 15th, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई।  उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के बाहर जिलेटिन की छड़े लदी स्कॉर्पियों खड़ी करने के मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने दो और आरोपियों को गिरफ्तार किया है। छानबीन में खुलासा हुआ कि दोनों आरोपी मामले के मुख्य आरोपी पूर्व अधिकारी सचिन वाझे और दूसरे आरोपियों के साथ लगातार संपर्क में थे। एनआईए इस बात की भी जांच कर रही है कि क्या आरोपियों की मनसुख हिरन हत्याकांड में भी कोई भूमिका है। कोर्ट में पेशी के बाद दोनों आरोपियों को 21 जून तक एनआईए हिरासत में भेज दिया गया है।  गिरफ्तार आरोपियों के नाम संतोष शेलार और आनंद जाधव है। दोनों को एनआईए ने मुंबई के मालाड में स्थित कुरार विलेज से 11 जून को गिरफ्तार किया था। अधिकारियों के मुताबिक 25 फरवरी को एंटीलिया के बाहर विस्फोटक लदी कार खड़ी करने के मामले में दोनों की भूमिका सामने आने के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया है। इसके अलावा कारोबारी मनसुख हिरन की हत्या के मामले में भी दोनों से पूछताछ की जा रही है। 

बता दें कि एंटीलिया के पास खड़ी की गई विस्फोटक भरी कार के मालिक हिरन थे। जांच के बाद एनआईए का दावा है कि वाझे और उसके साथियों ने हिरन की हत्या कर शव मुंब्रा की खाड़ी में फेंक दिया था। हिरन का शव इसी साल 5 मार्च को खाड़ी से बरामद हुआ था। अब तक इस मामले में मुख्य आरोपी सचिन वाजे समेत सात आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है। वाझे के अलावा दो पुलिस अधिकारियों सुनील माने, रियाजुद्दीन काजी और एक पुलिस कांस्टेबल विनायक शिंदे और सट्टेबाज नरेश गोर को एनआईए ने पहले गिरफ्तार किया था। सभी पुलिसवालों को गिरफ्तारी के बाद पुलिस सेवा से बर्खास्त कर दिया गया है। कुछ दिनों पहले ही राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने मामले में आरोप पत्र दायर करने के लिए 60 दिन अतिरिक्त समय मांगा था जिसे अदालत ने स्वीकार कर लिया है।