दैनिक भास्कर हिंदी: कोविड-19 की वैक्सीन लगवा चुके मुंबई आ रहे विदेशी यात्रियों को क्वारेंटाइन अनिवार्य नहीं, नागपुर में फिर दो विमान लेट-दो रद्द  

March 22nd, 2021

डिजिटल डेस्क, मुंबई। हवाई अड्डे पर दुनियाभर से आने वाले उन यात्रियों को एक सप्ताह का अनिवार्य क्वारेंटाइन नहीं होना होगा, जो कोविड-19 की वैक्सीन लगवा चुके हैं। इन देशों में ब्रिटेन, यूरोप, मिडिल ईस्ट, दक्षिण अफ्रीका और ब्राजील जैसे देश प्रमुख हैं, जहां से आने वाले पैसेंजर्स को सप्ताहभर अनिवार्य क्वारंटीन की जरूरत नहीं होगी। महानगरपालिका ने इसे लेकर नई एडवाइजरी जारी कर दी है। जिसके तहत बुजुर्गों, महिलाओं और बच्चों को छूट दी गई है, जो पैसेंजर 65 साल से ज्यादा उम्र के हैं, जो महिलाएं प्रेग्नेंसी के एडवांस्ड स्टेज में हैं और जो पैरेंट्स पांच साल से छोटे बच्चे के साथ हैं, उन्हें क्वारेंटाइन में छूट दी गई है। इससे पहले सात दिनों तक संस्थागत क्वारंटीन अनिवार्य था, भले ही कोविड-19 रिपोर्ट निगेटिव हो

इसके अलावा गंभीर बीमारी से जूझ रहे व्यक्तियों को भी छूट दी गई है। उन्हें भी अनिवार्य क्वारेंटाइन नहीं होना होगा। इसमें कैंसर, शारीरिक अक्षमता, मानसिक बीमारी, सेरीब्रल पाल्सी जैसे असाध्य बीमारी से पीड़ित शामिल हैं। इसके अलावा लाइफ सेविंग सर्जरी और गंभीर बीमारी के इलाज के लिए आने वाले डॉक्टरों को भी क्वारेंटाइन से छूट दी जा रही है।

नागपुर में फिर दो विमान देरी से पहुंचे, दो रद्द

उधर नागपुर की बात करें तो विमानतल पर रविवार को दो विमान देरी से पहुंचे। दोनाें विमान इंडिगो के थे। अहमदाबाद से नागपुर आने वाले विमान ने 48 मिनट देरी से उड़ान भरी जो कि नागपुर पूरे घंटे की देरी से रात 9 बजे पहुंचा। दूसरा विमान हैदराबाद से 22 मिनट की देरी से शनिवार-रविवार मध्य रात्रि 12.42 बजे पहुुंचा। इसके साथ ही गो-एयर के मुंबई से आने वाले दो विमान तकनीकी समस्या के कारण रद्द किए गए। 

पटना के लिए विमान 16 अप्रैल से
पिछले दो सालों से नागपुर से पटना/दरभंगा के लिए विमान शुरू करने की मांग की जा रही थी। 16 अप्रैल से पटना के लिए यह सेवा शुरू हो रही है। यह मांग अखिल बिहारी मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष कौशल पाठक व सभी पदाधिकारी दो साल से कर रहे थे। इसके लिए इन्होंने केंद्रीय मंत्री नितीन गडकरी और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को भी पत्र भेजा था। इसको लेकर पदाधिकारियों ने अाभार माना है।