दैनिक भास्कर हिंदी: कोरोना से बचने कैशलेस को बढ़ावा देने यूजीसी की पहल

June 15th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर। कोरोना संक्रमण के कारण बदली जीवनशैली में अब सोशल डिस्टेंसिंग और सतर्कता बरतना जरूरी हो गया है। प्रत्यक्ष संपर्क कम से कम करना है। ऐसे में अब दैनिक जीवन में नोटों के लेन-देन पर भी अंकुश जरूरी है। इसी को ध्यान में रखते हुए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने राष्ट्रसंत तुकड़ोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय समेत सभी शिक्षा संस्थानों को कैश का चलन कम कर ज्यादा से ज्यादा डिजिटल पेमेंट करने को कहा है। इसके लिए उन्हें भारत बिल पेमेंट सिस्टम का उपयोग करने को कहा है।

कुलगुरु के नाम जारी पत्र में यूजीसी ने कैशलेस को बढ़ावा देते हुए कहा है कि, इस सुविधा से शिक्षा संस्थानों को कैश हैंडलिंग चार्जेस भी कम लगेंगे और पैसों का प्रबंधन भी अासान हो जाएगा। उल्लेखनीय है कि, वर्ष 2016 में लागू हुई नोटबंदी के बाद से ही शिक्षा संस्थानों को डिजिटल पेमेंट के इस्तेमाल के निर्देश दिए गए हैं, लेकिन अब भी कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में कैश का लेन-देन जारी है। विद्यार्थियों की शैक्षणिक फीस से लेकर विविध प्रकार के शुल्कों का लेन-देन होता है। ऐसे में कोरोना काल में यह लेन-देन कैशलेस करने पर जोर दिया जा रहा है।