दैनिक भास्कर हिंदी: फ्लोटिंग साइकिल से साफ होगा तालाब, नीरी के प्रयास

April 6th, 2018

डिजिटल डेस्क,नागपुर । दिनों-दिन गहराते जलसंकट से निपटने की हर स्तर पर कोशिश जारी है। शहर के तालाब और बावड़ियों की सफाई पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है।  तालाब संरक्षण में एक महत्वपूर्ण पहल की गई है। तालाबों में जमा कचरा साफ करने के लिए फ्लोटिंग साइकिल का इस्तेमाल किया जाएगा।  फुटाला तालाब पर नीरी संस्थान द्वारा इसका डेमो दिया गया।  सफल डेमो के बाद शनिवार को नीरी द्वारा इसे मनपा को सौंप दिया जाएगा। सीएसआईआर-नीरी निदेशक डॉ. राकेश कुमार सीएसआईआर-नीरी डायमंड जुबली जयंती फाउंडेशन दिवस के अवसर पर फुटाला तालाब में सुबह 10 बजे मनपा आयुक्त को यह प्रोजेक्ट सौपेंगे। 

सफाई होने से जलसंग्रह भी बढ़ने की उम्मीद
फ्लोटिंग साइिकल झीलों को साफ करने के लिए बनाया गया है। इसमें वाॅटर राइड और व्यायाम भी कर सकते हैं। सीएसआईआर-राष्ट्रीय पर्यावरण इंजीनियरिंग अनुसंधान संस्थान का ये प्रथम  प्रोटोटाइप  फ्लोटिंग साइिकल का निर्माण है। यह पानी की सतह पर से मलबे को साफ करेगा। यह प्रोपेलर से लैस है और पानी के ऑक्सीजन स्तर को बढ़ाता है। इसमें पीवीसी पाइप संलग्न है। इस उपकरण को पूरी तरह से सुरक्षित बनाने के लिए अतिरिक्त सुरक्षा उपकरण लगाए गए हैं।  खास बात यह है कि यह पर्यावरण के अनुकूल है और इसमें ईंधन की भी आवश्यकता नहीं है। इसका निर्माण डॉ. अत्या कैपले, डॉ. रीता एस धोपदकर और सौरव चक्रवर्ती, अनसुया काले के सहयोग से हुआ है।  सीएसआईआर-एनईआरआई रिसर्च सेल के शरद पालीवाल, रितेश तहलियानी ने भी इस प्राेजेक्ट में सहयोग दिया है। 

कुओं और बावड़ियों की सफाई की भी हो व्यवस्था
उल्लेखनीय है कि शहर में तालाबों के अलावा कई प्राचीन कुएं और बावड़ियां भी हैं । भीषण गर्मी में वैसे भी शहरवासी जलसंकट की स्थिति से जूझते रहे हैं।  इन सभी की सफाई कर उपाय योजना की जाए तो  जलसंकट की स्थिति से निपटा जा सकेगा। प्रशासन द्वारा इस ओर ध्यान दिए जाने की आवश्यकता है।