दैनिक भास्कर हिंदी: औरंगाबाद में वैक्सीन उत्सव की शुरुआत , जनजागरण भी होगा

April 10th, 2021

डिजिटल डेस्क, औरंगाबाद।  सांसद डॉ. भागवत कराड़ ने कोरोना संक्रमण फैलने के लिए राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि वह इस पर नियंत्रण पाने में विफल साबित हुई है। इसे देखते हुए औरंगाबाद जिले में महात्मा फुले जयंती और डॉ. बाबासाहब आंबेडकर जयंती के उपलक्ष्य में 11 अप्रैल से वैक्सीन उत्सव की शुरुआत कर नागरिकों का टीकाकरण करवाने के साथ ही जनजागृति भी की जाएगी। केंद्र सरकार ने राज्य सरकार को 1 करोड़ 6 लाख वैक्सीन की आपूर्ति की। उसमें से अब तक 91 लाख वैक्सीन का इस्तेमाल किया गया है। वैक्सीन को लेकर स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे का केंद्र पर भेदभाव का आरोप अनुचित है। केंद्र के लिए सभी राज्य बराबर हैं। 

संवाददाता सम्मेलन में डॉ कराड़ ने कहा कि मनपा की ओर से 115 टीकाकरण केंद्र शुरू किए गए हैं। 45 डॉक्टरों ने आवेदन  किया है और वह  नागरिकों को टीका लगवाने तैयार हैं। टीका लगवाने पर हम कोरोना का मुकाबला कर सकते हैं। उनका कहना था कि रविवार, 11 अप्रैल को महात्मा ज्योतिबा फुले, 14 अप्रैल को डॉ. बाबासाहब आंबेडकर जयंती है। इसे देखते हुए 11 अप्रैल से वैक्सीन उत्सव की शुरुआत करेंगे। नागरिकों को बड़े प्यार से समझाने के बाद उन्हें केंद्र पर ले जाकर टीका लगवाएंगे। प्रशासन अपने स्तर पर काम कर रहा है। देश की जनसंख्या 130 करोड़ है। वैक्सीन बनाने का कार्य 2 कंपनियां कर रही हैं। सभी को एक साथ वैक्सीन आपूर्ति करना संभव नहीं होने से चरणबद्ध तरीके से वैक्सीन की आपूर्ति की जा रही है। सभी को टीका लगाने केंद्र सरकार वैक्सीन अापूर्ति करेगी। मोदी सरकार ने वर्ष 2020 में लॉकडाउन का एलान करने के बाद धीरे-धीरे नागरिकों को अनाज, आर्थिक मदद समेत अन्य योजनाएं शुरू करने से नागरिकों को राहत मिली थी। लॉकडाउन का एेलान करने के बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने अब तक कोई भी योजना शुरू नहीं की।

क्याें नहीं की जा रही वैक्सीन की जनजागृति:सावे

विधायक अतुल सावे ने कहा कि नई जल योजना का भूमिपूजन के दौरान 30 लाख रु स्मार्ट सिटी के विज्ञापन और फलक पर खर्च किए गए थे। अब प्रशासन कोरोना वैक्सीन लगाने के लिए जनजागृति पर फूटी कौड़ी भी खर्च नहीं की गई। कोरोना वैक्सीन लगाने को लेकर शहर में एक भी फलक नहीं लगाया गया है। आरोप लगाया कि कोरोना को लेकर प्रशासन गंभीर नहीं है। ऑक्सीजन की किल्लत बनी हुई है। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे अपनी कमियांे छुपाने के लिए केंद्र सरकार पर आरोप लगा रहे हैं। बैठक लेने भी प्रशासन तैयार नहीं था। जनप्रतिनिधियों की चिल्ला पुकार के  बैठक ली गई। भ्रष्ट सरकार को बचाने के लिए पूरी कोशिश की जा रही है। आरोप लगाया कि आम नागरिकों से सरकार को प्यार नहीं है। संवाददाता सम्मेलन में शहराध्यक्ष संजय केणेकर, राजेश मेहता, बबन नरवडे उपस्थित थे।

पंढरपुर उपचुनाव में उमड़ हजारों की भीड़

पंढरपुर में हो रहे विधानसभा के उपचुनाव के लिए उपमुख्यमंत्री अजित पवार की सभा में हजारों की संख्या में लोग उपस्थित थे। जब राज्य सरकार के मंत्री ही कोरोना के नियमों की धज्जियां उड़ रहे हैं, तो िफर आम नागरिकों ने क्या करें यह सवाल उपस्थित हो रहा है। शादियों में पांच हजार लोग जमा हो रहे हैं। विविध कार्यक्रम होने से अब कोरोना नियंत्रण के बाहर चले जाने की बात भी सांसद कराड़ ने कही।

 


 

खबरें और भी हैं...