मौसम: नागपुर समेत विदर्भ शीतलहर की चपेट में, पारा गिरा

December 22nd, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। मंगलवार को नागपुर समेत आधा विदर्भ शीतलहर की चपेट में आ गया। उत्तर भारत से आ रही सर्द हवा के कारण नागपुर समेत विदर्भ में पारा नीचे आ गया है। सर्दी से मामूली राहत मिलने के इंतजार में बैठे लोगों को और ज्यादा सर्दी का अनुभव हुआ। नागपुर में मंगलवार को भी हाड़ कंपाने वाली सर्दी रही। मंगलवार को रात का पारा और गिर गया। लोग दिन में ही ठिठुरने लगे। अधिकतम तापमान 27.1 डिग्री व न्यूनतम तापमान 7.6 डिग्री सेल्सियस रहा।

मौसम विभाग के अनुसार, पारा लगातार गोता खाने से सर्दी का कहर बढ़ता जा रहा है। मंगलवार को  नागपुर का न्यूनतम तापमान सामान्य से 5 डिग्री कम रहा। उत्तर भारत में बने पश्चिमी-विक्षोभ का असर नागपुर समेत विदर्भ में हुआ है। शीतलहर के कारण शाम को रास्तों व बाजारों में चहल-पहल कम नजर आई। मंगलवार को नागपुर के अलावा अमरावती, गड़चिरोली, गोंदिया, वर्धा व यवतमाल शीत लहर की चपेट में रहे। नागपुर में बुधवार को भी पारा सामान्य से नीचे रह सकता है। सर्दी सेे निजात मिलने की संभावना कम है।

इधर प्रकल्पग्रस्त सड़कों पर डटे, नहीं सुन रहा कोई इनकी बात 
नागपुर में चल रही शीत लहर में लोग घरों में दुबके है। ऐसे हालात में सड़कों पर चलना तो दूर, लोग घरों से बाहर तक निकलने से बच रहे हैं। हाड़ कंपाने वाली इस ठिठुरन में प्रकल्पग्रस्त सड़कों पर डटे हैं। दिन ही नहीं, रात में भी वे यहीं सो रहे हैं। संविधान चौक पर चंद्रपुर, बल्लारपुर के सब्बई स्थित चिंचोली रिकास्ट प्रकल्प के पीड़ितों का पिछले 30 नवंबर से वेकोलि के खिलाफ बेमियादी अामरण अनशन जारी है, लेकिन इस ठिठुरन में भी वेकोलि टस से मस नहीं हो रहा है।