दैनिक भास्कर हिंदी: छत्तीसगढ़ : सावधान, फरार हुआ सीरियल किलर अरुण चंद्राकर

May 9th, 2018

डिजिटल डेस्क, दुर्ग । छत्तीसगढ़ का पहला सीरियल किलर अरुण चंद्राकर पुलिस की लापरवाही के चलते फरार हो गया है। अरुण चंद्राकर को पुलिस पेशी के लिए दुर्ग कोर्ट लाई थी लेकिन हथकड़ी में जकड़ा कुख्यात किलर अरुण पुलिस को चकमा देकर हथकड़ी सहित फरार हो गया है। सीरियल किलर अरुण के फरार होने के बाद छत्तीसगढ़ के पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है, उसकी तलाश में जगह-जगह सर्चिंग की जा रही है और लापरवाही बरतने पर हवलदार को सस्पेंड कर दिया गया है। 

 

Image result for हथकड़ी

 

पेशी से पहले फरार हुआ सीरियल किलर

 

पुलिस कोर्ट में सीरियल किलर अरुण को लेकर अपनी बारी का इंतजार कर रही थी, अदालत परिसर में काफी भीड़ थी। अरुण को हथकड़ी लगी हुई थी लेकिन इसी दौरान अरुण पर निगरानी रखने वाला पुलिसकर्मी किसी से बात करने लगा जिसका फायदा उठाकर अरुण कोर्ट परिसर से फरार हो गया। हवलदार ने जब पलटकर देखा तो अरुण नजर नहीं आया। पुलिसकर्मियों ने कोर्ट परिसर और आसपास के इलाके में अरुण की तलाश की लेकिन तब तक वो फरार हो चुका था। अरुण की फरारी से रायपुर और दुर्ग की पुलिस में हड़कंप मच गया है। हर तरफ उसकी तलाश की जा रही है, सीरियल किलर अरुण की तलाश में गुंडरदेही गांव और कचांदुर गांव में उसके रिश्तेदारों के यहां भी दबिश दी गई लेकिन उसका कुछ पता नहीं चल पाया है। 

 

Image result for serial killer arun chandrakar

 

सात लोगों का हत्यारा है अरुण 

 

अरुण चंद्राकर वो शातिर हत्यारा है जिसने एक के बाद सात लोगों की जान ली है। पुलिस की भाषा में जिसे साइलेंट किलर कहा जाता है अरुण ठीक वैसा ही है जो बड़े ही शातिराना अंदाज से हत्याएं करता है और लोगों को मारने के बाद उनकी लाश को बड़ी ही चालाकी से दफना देता था, जिससे कि मारे गए लोगों का कोई सुराग न मिले। अरुण साल 2012 में उस वक्त पुलिस के हत्थे चढ़ा था जब उसे कुकुरबेड़ा इलाके गुमशुदा बच्ची की तलाश में जुटी पुलिस ने संदेह के आधार पर पकड़ा। पूछताछ हुई तो जो राज निकलकर सामने आए उनने पुलिस के होश उड़ा दिए। पूछताछ में अरुण ने बताया कि उसने बच्ची के साथ रेप किया था और फिर उसे बस्ती के एक सुनसान इलाके में दफना दिया था। इसके बाद उसने एक एक कर 6 और हत्याओं को करना कबूल किया था। अरुण ने अपनी पत्नी और पिता समेत 7 लोगों की हत्या करना कबूल किया था, जिनके कंकाल पुलिस ने अरुण की निशानदेही पर बरामद किए थे।