दैनिक भास्कर हिंदी: पश्चिम बंगाल चुनाव : EC के साथ बैठक में बोले TMC नेता-भाजपा हिंसा भरा चुनाव चाहती है, हम शांति

January 21st, 2021

डिजिटल डेस्क, कोलकाता। पश्चिम बंगाल में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर राज्य में राजनीतिक सरगर्मी बढ़ती जा रही है। इसी बीच केंद्रीय चुनाव आयोग की टीम कोलकता दौरे पर हैं। आज चुनाव आयोग की सभी राजनीतिक पार्टियों के साथ बैठक हुई। इस बैठक में आने वाले चुनाव की तैयारी को लेकर मंथन किया गया। राजनीतिक दलों के साथ चुनाव आयोग की बैठक कोलकता के ओबरॅाय ग्रैंड होटल में गुरुवार सुबह शुरू हुई। इस बैठक में भारतीय जनता पार्टी ,सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस पार्टी और लेफ्ट पार्टी के नेता मौजूद रहे।

बैठक में टीएमसी और भाजपा के बीच आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी रहा। बैठक में टीएमसी नेता फिरहाद हकीम ने कहा कि 'भाजपा की ओर से पश्चिम बंगाल में हिंसा भरे चुनाव कराने की तैयारी है',लेकिन हम शांति चाहते हैं। टीएमएसी नेता हकीम ने आरोप लगाया कि बॉर्डर इलाकों में वोट पाने के लिए बीजेपी बीएसएफ की मदद ले रही हैं। टीएमसी नेता ने यह भी कहा कि बीएसएफ के जवान लोगों को डरा धमका रहे हैं।

वहीं, इस बैठक में भारतीय जनता पार्टी ने चुनाव आयोग से शिकायत की है कि राज्य में गृह युध्द जैसे हालात हो गए हैं। इसके साथ ही भाजपा ने चुनाव आयोग से मांग की है कि वोटर्स लिस्ट को ऑडिट किया जाए। भाजपा ने यह भी आरोप लगाया कि बॉर्डर इलाकों के वोटर्स लिस्ट में बांग्लादेश के लोगों को एंट्री दी गई हैं।

हालांकि, टीएमसी नेता ने कहा कि रोहिंग्या का नाम नहीं जुड़ा है,अगर कोई कह रहा है तो वह झूठ हैं। टीएमसी नेता पार्थों चटर्जी ने यह भी कहा कि भाजपा रोहिंग्या का नाम लेकर चुनाव आयोग पर दबाव बनाने की कोशिश कर रही हैं। सीपीएम पार्टी की ओर से कहा गया कि भाजपा और टीएमसी ये दोनों पार्टियां रैली, रोड शो में 'गोली मारो' स्लोगन उठा रही है तो चुनाव में हिंसा को कैसे रोका जाएगा। 

दरअसल,पिछले कुछ दिनों में बंगाल के कई रोड़ शो या रैलियों में विवाद देखने को मिला है।पिछले दिनों ही हुगली में भाजपा की रैली में पार्टी कार्यकर्ताओं ने 'गोली मारो' के नारे लगाए, जिसके बाद तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया।बता दें कि इससे पहले भी चुनाव आयोग की ओर से कई बार पश्चिम बंगाल का दौरा किया जा चुका है जिसमें आने वाले विधानसभा चुनाव का जायजा लिया जा रहा हैं।वहीं बताया जा रहा है कि मई से पहले बंगाल में राज्य विधानसभा चुनाव कराये जा सकते हैं।
 

खबरें और भी हैं...