comScore

 जनवरी में खुलेगी शारदा खदान , बाकी भी घोषित तिथि पर ही खुलेंगी

December 28th, 2018 14:50 IST
 जनवरी में खुलेगी शारदा खदान , बाकी भी घोषित तिथि पर ही खुलेंगी

डिजिटल डेस्क, छिंदवाड़ा। वेस्टर्न कोल फील्ड्स लिमिटेड (वेकोलि) छह नई खदानें शुरू करने की तैयारी में है। इन छह नई खदानों में सबसे पहले कन्हान क्षेत्र की शारदा भूमिगत कोयला खदान जनवरी 2019 में शुरू की जाएगी। करीब चार माह पहले केंद्रीय कोयला मंत्री पीयूष गोयल ने परासिया में छह नई खदानों की घोषणा की थी। उन्होंने कौन सी खदान कब शुरू की जाएगी इसकी डेट लाइन भी दी थी। इन चार माह में खदान शुरू होने को लेकर वेकोलि कन्हान व पेंच क्षेत्र में सुगबुगाहट नजर न आने पर चर्चाएं शुरू हो गई थीं। खदानों को लेकर संदेह जाहिर किए जा रहे थे। इसी बीच वेकोलि हेडक्वार्टर ने बकायदा प्रेस नोट जारी कर खदानें शुरू किए जाने की जानकारी दी है। वेकोलि के जनसंपर्क विभाग द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार शारदा भूमिगत  कोयला खदान जनवरी माह में शुरू करने सभी तैयारियां कर ली गई हैं। अन्य पांच खदान जिसमें पेंच क्षेत्र की धनकसा अंडरग्राउंड, विष्णुपुरी अंडरग्राउंड से ओपन कास्ट, नारायणी एक्सपेंशन ओपनकास्ट और पाथाखेड़ा क्षेत्र में तवा तीन भूमिगत खदान व गांधीग्राम भूमिगत खदान खोलने के लिए आवश्यक औपचारिकताएं समयबद्ध पूरी की जा रही हैं। इन्हें भी पूर्व में घोषित कार्यक्रम के अनुसार एक-एक कर खोलने की योजना है। छह नई खदानों की उत्पादन क्षमता 6.77 मिलियन टन है।


अभी 4.2 मिलियन टन उत्पादन
वेकोलि के पेंच, कन्हान और पाथाखेड़ा क्षेत्र में 16 खदानें हैं। जिनमें 12 भूमिगत और 4 ओपनकास्ट खदानें हैं। पिछले दिनों घाटा व कोयला खत्म होने की स्थिति में बंद की गई चार खदानों में उत्पादन घटकर 4.2 मिलियन टन आ गया है। वर्ष 2015-16 में तीनों क्षेत्रों से 6.63 मिलियन टन उत्पादन होता था।

बढ़ी राजनीतिक सुगबुगाहट
विधानसभा चुनाव में भाजपा की हार और लोकसभा चुनाव से पहले शुरू हुई कोयला खदानें खोलने की तैयारी से कोयलांचल में राजनीतिक सुगबुगाहट अटकलबाजियां शुरू हो गई हैं। वेकोलि ने 11 मिलियन टन कोल क्षमता वाली इन सभी खदानों पर 1575 करोड़ का निवेश और 800 लोगों को रोजगार की बात कही है।  
 

कमेंट करें
GbdKy