विधान परिषद चुनाव : नगरसेवकों को ह्विप जारी, कोई शहर से बाहर नहीं जाएगा

November 25th, 2021

डिजिटल डेस्क, नागपुर। विधान परिषद चुनाव को लेकर नगरसेवकों व अन्य निकाय संस्था सदस्यों के साथ उम्मीदवार व उनके प्रमुख रणनीतिकारों की बैठक का दौर शुरू हो गया है। भाजपा के नगरसेवकों का स्नेह भोज वर्धा मार्ग स्थित होटल में रखा गया। उसमें भाजपा के प्रमुख नेता सहित केंद्रीय मंत्री नितीन गडकरी के भी शामिल होने की जानकारी है। बैठक में मनपा सत्तापक्ष की ओर से भाजपा नगरसेवकों के लिए ह्विप जारी करते हुए उन्हें नागपुर से बाहर जाने से मना कर दिया है। इस दौरान उन्हें 27 नवंबर को नागपुर से बाहर जाने के लिए तैयार रहने के निर्देश दिए। सभी नगरसवकों को महाराष्ट्र के बाहर भाजपा शासित राज्यों में ले जाया जाएगा। इसके लिए महिला नगरसेवकों की तीन टीम और पुरुष नगरसेवकों की एक टीम बनाने को कहा गया है।

महिला नगरसेवकों को सपरिवार नागपुर से बाहर ले जाया जाएगा। पुरुषों की अलग टीम रहेगी। चारों टीम को अलग-अलग दिशाओं में भेजा जाएगा। सभी टीम के साथ पार्टी के प्रमुख पदाधिकारी रहेंगे। बैठक में 104 निर्वाचित नगरसेवक और 4 मनोनीत नगरसेवक मौजूद थे। 2 नगरसेविका बैठक में अनुपस्थित रहीं। व्यक्तिगत कारणों का हवाला दिया गया। इस दौरान वरिष्ठ नेता ने मार्गदर्शन करते हुए सीधे चेतावनी दी कि किसी भी परिस्थिति में भीतरघात मंजूर नहीं किया जाएगा। चुनाव में वोट फूटना नहीं चाहिए। क्रॉस वोटिंग होती है तो उसका अंजाम संबंधित नगरसेवक को भुगतना होगा। पार्टी के अनुशासन और आदेश को मानना होगा। 

कांग्रेस सहित अन्य संगठनों के सदस्यों को जोड़े रखने का प्रयास : कांग्रेस सहित अन्य संगठनों के सदस्यों को भाजपा के विरोध में जोड़े रखने का प्रयास शुरू हो गया है। ग्रामीण क्षेत्र में इन सदस्यों के लिए भोजन पार्टी का आरंभिक दौर जारी है। पशु संवर्धन मंत्री सुनील केदार ने कांग्रेस सदस्यों की पहचान कांग्रेस उम्मीवार से कराई है। साथ ही सभी को प्रलोभनों से दूर रहने को कहा गया है। दावा किया जा रहा है कि शुक्रवार से कांग्रेस उम्मीदवार का प्रचार कार्य तेज हो जाएगा। 

नगरसेवकों में बेचैनी 
छोटू भोयर के बगावत के बाद मनपा में भाजपा के 106 निर्वाचित नगरसेवक और चार मनोनीत नगरसेवक हैं। मनपा चुनाव की तैयारी को देखते हुए कुछ नगरसेवकों में विविध कारणों से बेचैनी है। कुछ को मनपा चुनाव की उम्मीदवारी पाना है, तो कुछ को चुनाव लड़ने के लिए आर्थिक स्थिति मजबूत करना है। नगरसेवक रवींद्र भोयर भाजपा में सत्ता में सहभागिता नहीं मिलने की व्यथा सुनाते हुए कांग्रेस में चले गए। ऐसे ही कई नगरसेवक भाजपा में हैं। उनके असंतोष को टटोलने व मतदान तक सभी को एक साथ रखने की रणनीति पर भाजपा के बड़े नेता काम कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि इस चुनाव में भाजपा के कुछ पदाधिकारियों पर भी वरिष्ठ नेताओं को संदेह है। लिहाजा उन पर नजर रखने के लिए मुंबई, पुणे से भाजपा के कुछ पदाधिकारियों को बुलवाया जा रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस पूरी रणनीति पर ध्यान रखेंगे। गुरुवार को पूर्व गृहराज्यमंत्री रणजीत पाटील शहर में होंगे। 

पांचों उम्मीदवारों के आवेदन वैध, नाम वापसी कल तक
विधान परिषद की नागपुर स्थानीय निकाय संस्था सीट के चुनाव को लेकर उम्मीदवार संबंधी स्थिति लगभग साफ होने लगी है। 5 उम्मीदवारों ने नामांकन दर्ज कराए हैं। बुधवार को नामांकन छंटनी के दौरान सभी उम्मीदवारों के नामांकन वैध पाए गए हैं। नाम वापसी का मौका कल यानी 26 नवंबर तक है। मुख्य मुकाबला भाजपा व कांग्रेस के बीच होगा। लिहाजा दोनों दलों के रणनीतिकार चुनावी रणनीति पर काम करने लगे हैं। उम्मीदवारों में चंद्रशेखर बावनकुले (भाजपा), रवींद्र भोयर (कांग्रेस), प्रफुल गुडधे (कांग्रेस), मंगेश देशमुख, सुरेश रेवतकर शामिल हैं। कांग्रेस ने भोयर को उम्मीदवार घोषित किया है, लिहाजा गुडधे नाम वापस ले सकते हैं। अन्य दो निर्दलीय उम्मीदवारों को भी नाम वापस लेने के लिए प्रमुख दलों के नेता कह सकते हैं। 10 दिसंबर को मतदान होगा।