comScore

बाघ के हमले से दो लोगों की मौत

बाघ के हमले से दो लोगों की मौत

डिजिटल डेस्क,चंद्रपुर। एक ही दिन दो अलग अलग स्थानों पर दो लोग बाघ का शिकार हो गए।  ब्रम्हपुरी के नवेगांव समीप जंगल में महिला  गांव के पास ही जंगल मे महुआ फूल चुनने गयी थी। जहां बाघ ने हमला कर दिया,जिसमें महिला की मौत हो गयी। वहीं  सिंदेवाही के सावर्गाटा में एक और वृद्ध की बाघ के हमले में मौत हो गयी। मृतक वृद्ध का नाम बाजीराव सोनुले है। वह पास के ही जंगल मे महुआ फूल चुनने गया था। वन विभाग मामले की जांच कर रहा है। मृतक बाजीराव घोट गांव के सरपंच प्रकाश सोनुले के पिता बताये जाते है।

इससे पहले शुक्रवार को ताडोबा अंधारी बाघ प्रकल्प के कोर क्षेत्र अंतर्गत आनेवाले ग्राम रानतलोधी में महुआ फूल चुनने गई वृद्ध महिला पर बाघ ने हमला कर दिया। कमलाबाई महादेव नन्नावरे, उम्र 68 साल अन्य ग्रामिणों के साथ महुआ फूल चुनने गई थी। जहां कपार्टमेन्ट नंबर 253 में बाघ ने उसपर हमला कर मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद करीब 248 मीटर तक शव को घसीटते ले गया। जब महिला काफी देर तक नहीं लौटी तब ग्रामीण उसे ढूंढने निकले। जब बाघ महिला के पास बैठा था। जब लोगों ने खदेड़ने का प्रयास किया, तो बाघ जंगल में चला गया। इसकी जानकारी वनविभाग को दी गई थी।

महुआ फूल बीनने के दौरान जंगल में बाघ के हमले से अबतक तीन लोगों की मौत हो चुकी है । पहली घटना बुधवार 27 मार्च को ब्रम्हपुरी तहसील के रामपुरी एकारा बुज जंगल में पत्नी के साथ महुआ फूल चुनने गए खेतीहर ग्राम रामपुरी (मेंडकी) निवासी जानकीराम शंकर भलावी (50) को मौत के घाट उतार दिया था। करीब आधे किलोमीटर तक घसीटकर बाघ ने शव का कुछ हिस्सा खा लिया था।

कमेंट करें
aQfoE