दैनिक भास्कर हिंदी: कामठी मार्ग मेट्रो लाइन पर स्पीड से होगा काम

June 16th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर। महाराष्ट्र मेट्रो रेल कॉर्पारेशन की नागपुर मेट्रो रेल परियोजना में कामठी फ्लाईओवर अत्यंत महत्वपूर्ण योजना है। यह देश की पहली संरचना है, जो फोर लेयर है। इसका कार्य एनएचएआई के साथ मिलकर महामेट्रो कर रहा है। रेलवे से अनुमति मिलने के बाद इसका कार्य विलंब से चल रहा था। लॉकडाउन के चलते काम पूरी तरह  बंद हो चुका था। अब अनुमति मिलने के बाद काम गति के साथ शुरू हो गया है,  जिसमें सामान्यत: 5 से 10% तक कार्य अधिक किया गया।

कंटेनमेंट जोन में कम हुआ काम 
कामठी राेड शहर के व्यस्त मार्गों में से एक है। निर्माण कार्य काफी पहले शुरू हो चुका था। गड्डीगोदाम वाले गुरुद्वारे के पास स्थित रेलवे लाइन के ऊपर फ्लाईओवर और मेट्राे लाइन प्रस्तावित है। इस काम की अनुमति मिलने में समय लग रहा था। कार्य शुरू हुआ, तो कुछ ही माह बाद लॉकडाउन लग गया और कार्य रुक गया।  कार्य करने की अनुमति मिलने के बाद इस कार्य को गति गति मिल गई है। 

तेजी से हो रहा काम
लॉकडाउन में कार्य की अनुमति के बाद सामान्य दिनों की तुलना में 5 से 10 प्रतिशत अधिक कार्य किया गया है। कंटेनमेंट जोन को छोड़कर सभी जगह तेजी से कार्य किया जा रहा है। समय पर संरचना तैयार करने पर है जोर। -अखिलेश हलवे, डीजीएम (कॉर्पोरेट), महामेट्रो

ऐसी होगी संरचना
फ्लाईओवर एलआईसी चौक से शुरू होकर आॅटोमोटिव चौक तक है। यह व्यस्त मार्गों में से एक है।
फ्लाईओवर और मेट्रो ट्रैक को ‘राइट ऑफ वे’ कहा जाता है। इसका मतलब एक ही पिलर पर 2 संरचना का निर्माण है। इससे कम धन और जगह का उपयोग होगा।
गड्डीगोदाम स्थित गुरुद्वारे के समीप रेलवे मार्ग पर यह चार लेयर का होगा। सबसे पहले कामठी रोड, उसके ऊपर नागपुर-भोपाल रेलवे लाइन, तीसरा फ्लाईओवर और चौथा सबसे ऊपर मेट्रो वायडक्ट है।
मेट्रो वॉयाडक्ट की सबसे अधिक ऊंचाई 24.8 मीटर गड्डीगोदाम स्थित गुरुद्वारा के पास रेलवे मार्ग पर है। 
फ्लाईओवर की सबसे अधिक ऊंचाई सड़क से 14.9 मीटर रहेगी।