प्रदर्शन: फिनले मिल शुरू करने की मांग को लेकर मजदूरों का आंदोलन

November 25th, 2021

 डिजिटल डेस्क, अचलपुर (अमरावती)। राष्ट्रीय मिल मजदूर संघ के कामगारों ने  सर्वदलीय नेताओं के साथ फिनले मिल शुरू करने की मांग को लेकर जोरदार प्रदर्शन किया।  देश की राष्ट्रपति रही प्रतिभा पाटिल के सहयोग से तथा िजले के नेताओं के अथक प्रयासों से जुड़वा शहर सहित तहसील के युवाओं को रोजगार प्रदान करने के लिए एनटीसी की फिनले मिल शुरू की गई थी। लेकिन कोरोना काल से अब तक यह मिल बंद रखी गई है। इस कारण इस मिल में काम करनेवाले मजदूरों पर आर्थिक संकट आन पड़ा है। इस मिल में कम करनेवाले सभी युवा मजदूर है। श्रमिकों ने मिल शुरू करने के लिए अथक प्रयास किए थे। लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते इस मिल को कच्चे माल के अभाव का बहाना कर बंद कर दिया गया।

शुरुआत में मिल बंद होने पर श्रमिकों को आधा वेतन दिया गया। लेकिन अब समय पर यह वेतन भी न मिलने से मजदूरों के परिवारों पर भूखमरी की नौबत आ गई है। वर्ष 2008 में मुंबई के औद्योिगक न्यायालय में नेशनल मिल वर्कर्स यूनियन और एनटीसी के बीच इस मिल को कभी बंद न करने का समझौता हुआ है।  लेकिन इस मिल को कोरोना काल से लगातार बंद रखा गया है। मिल शुरू करने की मांग को लेकर राष्ट्रीय मिल मजदूर संघ ने पालकमंत्री एड. यशोमति ठाकुर, सांसद नवनीत राणा, कपड़ा मंत्री पीयूष गोयल, विधायक रवि राणा, राज्यमंत्री बच्चु कडू को ज्ञापन भी सौंपा है। लेकिन अभी तक यह मिल शुरू नहीं हो पाई है। इस कारण बुधवार को सर्व दलीय नेताओं के साथ राष्ट्रीय मिल मजदूर संघ के पदाधिकारियों ने व श्रमिकों ने मिल के सामने मिल शुरू करने की मांग को लेकर जोरदार प्रदर्शन किया। इस मांग को लेकर श्रमिक संघ के अध्यक्ष राजेश खोलापुरे, राम बुंदेले, शिवसेना अध्यक्ष पवन बुंदेले, प्रहार के संजय तट्टे, बंटी ककरानिया, नितीन आकुड, शशिलाला जयस्वाल, पार्षद गोवर्धन मेहरे, मनसे के विजय पोटे पाटील, दीक्षित महाराज, रमाकांत शेरकार, माणिक देशपांडे सहित सैकड़ों श्रमिकों ने प्रदर्शन किया। पश्चात मिल प्रशासन को अपनी मांगों का ज्ञापन सौंपा।