दैनिक भास्कर हिंदी: घोटाले में कार्रवाई के लिए लिखा तो अधिकारी का हो गया तबादला

November 28th, 2018

डिजिटल डेस्क, मुंबई। राज्य का पर्यटन विभाग इन दिनों वरिष्ठ अधिकारियों के लगातार तबादलों को लेकर चर्चा में है। विभाग के टेंडर में हुई गड़बड़ी के मामले में कार्रवाई के लिए लिखने पर दो आईएएस अधिकारियों की छुट्टी हो चुकी है पर उस अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश वाली फाईल अभी भी मंत्री के कार्यालय में पड़ी धूल खा रही है। हाल ही में पर्यटन  विभाग के प्रधान सचिव विजय कुमार गौतम के तबादले के बाद वे छुट्टी पर चले गए हैं। दरअसल मुंबई शापिंग फेस्टिवल के विवादित टेंडर के चलते अब तक तीन आईएएस अधिकारी को इस विभाग से जाना पड़ा है। पर्यटन मंत्री ने महानगर में पर्यटन को बढ़ावा देने के नाम पर मुंबई शापिंग फेस्टिवल की शुरुआत की है। इसके लिए पिछले साल टेंडर मंगाए गए थे। इस टेंडर में तीन इवेंट मैनेजमेंट कंपनियों ने हिस्सा लिया था। इस दौरान महाराष्ट्र राज्य पर्यटन निगम (एमपीडीसी) के निदेशक विजय वाघमारे पांच दिनों की छुट्टी पर चले गए और MTDC के सह प्रबंध निदेशक आशुतोष राठोड को MTDC के निदेशक का कार्यभर मिल गया था।

सूत्रों के अनुसार इन पांच दिनों के भीतर राठोड ने इवेंट मैनेजमेंट कंपनी OCMPL को मुंबई शापिंग फेस्टिवल का टेंडर 4 करोड़ 20 लाख में सौप दिया गया। पर यह टेंडर एक साल की बजाय 5 साल के लिए इस कंपनी को दिया गया, साथ ही करार पत्र में यह भी प्रावधान किया गया कि पांच साल बाद टेंडर में इस कंपनी को प्राथमिकता दी जाएगी। यह केंद्रीय सतर्कता आयोग (CVC) के नियमों  का उलंघन था। छुट्टी से लौट के आने के बाद MTDC के प्रबंध निदेशक वाघमारे ने इस टेंडर प्रक्रिया पर आपत्ति जताई लेकिन जल्द ही उन्हें विभाग से चलता कर दिया गया।

इसके बाद MTDC के प्रबंध निदेशक के पद पर आए सुहास दिवसे ने मुंबई शापिंग फेस्टिवल के टेंडर पर आपत्ति जताते हुए कानूनी सलाह लेकर टेंडर रद्द करने के लिए संबधित कंपनी को नोटिस जारी कर दिया। इस बारे में इवेंट मैनेजमेंट कंपनी का जवाब मिलने के बाद दिवसे ने टेंडर रद्द करने का फैसला कर लिया। इससे नाराज इस विभाग के मंत्री जय कुमार रावल ने दिवसे को मेमो जारी कर दिया।

CVC के नियमों का उलंघन

दिवसे ने सितंबर 2018 में मंत्री के मेमो का जवाब देने के साथ करार को रद्द कर इस मामले में MTDC के सह प्रबंध निदेशक राठोड सहित ठेकेदार कंपनी द्वारा आपराधिक साजिश रचने की आशंका जताते हुए मामले की जांच कराए जाने की सिफारिश कर दी। दिवसे ने अपनी यह रिपोर्ट पर्यटन विभाग के प्रधान सचिव विजय कुमार गौतम के पास भेजी तो श्री गौतम ने भी दिवसे की रिपोर्ट पर सहमति जताते हुए मामले की जांच का सिफारिश कर दी। गौतम का कहना था कि राठोड ने इस मामले में अपने पद का दुरुपयोग किया है। फिलहाल यह फाईल मंत्री के पास पड़ी है। सूत्रों के अनुसार दिवसे की रिपोर्ट पर मुहर लगाने के चलते ही गौतम को इस विभाग से जाना पड़ा। पिछले डेढ़ साल के दौरान पर्यटन विभाग से चार एमडी सहित 3 सचिवों का तबादला हो चुका है।

पर्यटन विभाग की सफाई

मामला सामने आने के बाद पर्यटन विभाग ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर सफाई दी है कि मुंबई शापिंग फेस्टिवल के टेंडर में 20 करोड़ का नुकसान नहीं हुआ है। विभाग का कहना है कि संबंधित कंपनी के साथ किया गया करार रद्द कर दिया गया है, इसलिए नुकसान का सवाल ही नहीं उठता। जबकि सच्चाई यह है कि MTDC के तत्कालिन प्रबंध निदेशक दिवसे ने CVC के नियमों के उलंघन का हवाला देते हुए इस करार को रद्द कर दिया था और इस मामले में कार्रवाई की सिफारिश की थी। बता दें कि मुंबई विश्वविद्यालय के सब रजिस्ट्रार राठोड को मंत्री रावल प्रतिनियुक्ति पर पर्यटन विभाग में लाए थे। हालांकि उनकी प्रति नियुक्ति पर सामान्य प्रशासन विभाग ने आपत्ति जताई थी। इसके बावजूद राठोड को MTDC में सह प्रबंध निदेशक के पद पर नियुक्त किया गया। जबकि इस पद आशिष कुमार सिंह व भूभण गगरानी जैसे आईएएस अधिकारी कार्य कर चुके हैं।

खबरें और भी हैं...